- घर में मिला डेंटल छात्रा शव, हत्या की आशंका

- घर पर अकेली थी छात्रा, परिजन गए थे शादी में

- पड़ोसी महिला और रिश्तेदार के आने पर हत्या का चला पता

- कमरे और गेट की कुंडी बाहर से बंद थी, गले और हाथ में चोट के निशान


lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : कैंट के नीलमथा में बीबीडी डेंटल कॉलेज में पढ़ रही छात्रा का शव संदिग्ध हालात में उसके घर में मिला। उसके परिजन चार दिन पहले शादी में शामिल होने बिहार गए थे। मंगलवार को उसका शव उसके बेड पर पड़ा मिला। मृतका के हाथ और गले पर चोट के निशान थे और उसका दुपट्टा पंखे से लटक रहा था। हत्यारे से हत्या के बाद इसे सुसाइड का रूप देने की कोशिश की है। पुलिस को कमरे से पांच मोबाइल फोन मिले हैं, जिसमें एक पर उसके परिजनों ने दावा नहीं किया है। वहीं प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस भी इसे आत्महत्या नहीं हत्या मान रही है।

घर में अकेली थी छात्रा

एसपी लाइन सर्वेश कुमार मिश्र ने बताया कि कैंट के नीलमथा विजयनगर स्थित विद्यानगर इलाके में सिविल इंजीनियर प्रकाश सिंह परिवार संग रहते हैं। परिवार में मां, पत्नी रेनू और इकलौती बेटी प्रिया सिंह (24) है। प्रिया चिनहट के बीबीडी कॉलेज से बीडीएस फाइनल ईयर की स्टूडेंट थी। प्रकाश पत्नी रेनू और मां के साथ भांजे की शादी में बिहार गए हैं। प्रिया के पेपर चल रहे थे इसलिए वह घर पर अकेले थी।

आखिरी बार 8.30 बजे दिखी

सोमवार शाम करीब पांच बजे प्रिया कॉलेज से घर लौटी। इसके बाद वह घर से नहीं निकली। पड़ोसी दीपकुमारी के अनुसार प्रिया को आखिरी बार उनके परिवार ने रात 8.30 बजे देखा था। वह घर का गेट अंदर से लॉक करने आई थी। प्रिया के घर से कुछ ही दूरी पर उनके फूफा एक्स आर्मी मैन संजय कुमार भी रहते हैं।

फोन रिसीव न होने पर पहुंचे फूफा

फूफा संजय कुमार के अनुसार प्रिया मंगलवार को व्रत रखती थी। मंगलवार होने पर उन्होंने प्रिया के खाने पीने और हालचाल लेने के लिए सुबह 7:15 बजे उसे फोन किया। फोन न रिसीव होने पर संजय ने 7:20 बजे दूसरे नंबर पर दोबारा कॉल की। दोनों नंबर न उठने पर उन्होंने 7:32 बजे दोनों नंबर पर बारी बारी से कॉल की, लेकिन फोन नहीं उठा। संजय के अनुसार वह केले लेकर प्रिया को देखने के लिए उसके घर पहुंचे थे।

मेन गेट बाहर से था बंद

पड़ोस में रहने वाली दीप कुमारी प्रिया के घर ठंडा पानी लेने जाती हैं। वे मंगलवार सुबह उसके घर पहुंची तो देखा कि मेन गेट पर बाहर से बंद है। इसी बीच प्रिया के फूफा संजय भी घर पहुंच गए।

सारे कमरों की कुंडी बाहर से बंद

दीपकुमारी ने संजय को बताया कि आवाज देने के बाद भी प्रिया काई रिस्पांस नहीं दे रही है। इस पर संजय गेट की कुंडी खोलकर घर के अंदर पहुंचे तो देखा कि प्रिया के बेडरूम की कुंडी भी बाहर से लगी है। वे कुंडी खोलकर अंदर पहुंचे तो वहां प्रिया का शव बेड पर पड़ा था।

गले और हाथ पर चोट के निशान

प्रिया का शव देखते ही संजय ने प्रिया के परिजनों को सूचना दी। लगातार 100 नंबर पर कॉल किया लेकिन फोन नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने करीब 8 बजे कैंट पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची छानबीन के दौरान प्रिया सिंह के गले और हाथ पर चोट के निशान मिले। वहीं प्रिया सिंह का दुपट्टा भी पंखे पर पड़ा था। माना जा रहा है कि हत्या को आत्महत्या का रूप देने का प्रयास किया गया।

पांच मोबाइल और पानी की बोतलें

मौके पर पहुंची फॉरेसिंकटीम को प्रिया के पास पांच मोबाइल फोन मिले। जिसमें एक पूरी तरह कूचा गया था जबकि चार फोन सही सलामत थे। इसमें दो फोन प्रिया के थे और एक उसकी मां का। जबकि एक अन्य फोन घर में ही रखा रहता था। वहीं बेडरूम में पानी की तीन बोतलें भी मिलीं। इन सभी को फॉरेंसिक टीम ने कब्जे में ले लिया है।

9 घंटे कमरे में पड़ी रही लाश

प्रिया के मौत की खबर पुलिस को 8 बजे मिल गई थी। घटना की जानकारी परिवार वालों को दे दी गई थी। शाम 4.30 बजे के बाद पिता और परिवार के लोग पहुंचे। इस दौरान पुलिस ने डेडबॉडी तो सील कर दी, लेकिन उसे पोस्टमार्टम के लिए नहीं भेजा। 9 घंटे तक शव को कमरे में रखा गया।

सीसीटीवी हाे रहे चेक

विद्या नगर की जिस कॉलोनी में सिविल इंजीनियर प्रकाश सिंह ने 9 साल पहले मकान बनवाया था वहां ज्यादा सीसीटीवी नहीं लगे हैं, लेकिन बाहरी क्षेत्र में लगे कैमरे की फुटेज पुलिस खंगाल रही है। माना जा रहा है कि हत्यारा घर के अंदर देर रात में आया और वारदात को अंजाम देकर सुबह होने से पहले निकल गया।

दोस्त, पड़ोसी सबकी जुबान पर तारीफ

प्रिया की मौत की जानकारी मिलने पर डेंटल कॉलेज से उसे एक दर्जन से ज्यादा सहपाठी भी मौके पर पहुंचे। पड़ोसियों की तरह उन्होंने भी यही कहा कि प्रिया बहुत नेक और खुशमिजाज लड़की थी। पढ़ाई में अव्वल रहने वाली प्रिया बीडीएस के बाद आगे की तैयारी भी अभी से कर रही थी।