aditya.jha@inext.co.in

PATNA: राजधानी के मेडिकल कॉलेज में गुरुवार को मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना देखने को मिली. यहां चिकित्सकों की लापरवाही के चलते एक डेड बॉडी में ड्रिप और ऑक्सीजन चढ़ाया जा रहा था. जिसके चलते लाश फूल गई. सूचना देने के बावजूद कोई डॉक्टर उस लाश को छूने के लिए तैयार नहीं हो रहा था. इमरजेंसी वार्ड में भर्ती महिला को सुबह से कोई डॉक्टर देखने को नहीं आए. सूचना मिलते ही दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की टीम जब पीएमसीएच के इमरेजेंसी वार्ड में पहुंची तो डॉक्टर नदारद थे. थोड़ी दूरी पर ही डॉक्टर रूम था, वहां कुछ जूनियर डॉक्टर बैठे हुए थे. जब उन्हें जानकारी दी गई तब उनको होश आया. आनन फानन में लाश को मृत जानवर की तरह इमरजेंसी वार्ड से हटाया गया और डाक्टरों की पूरी हरकत हमारे खुफिया कैमरे में कैद हो गई.

-तड़प-तड़प कर टूटी सांसें

पीएमसीएच के इमरजेंसी वार्ड के बेड नम्बर 21 पर भर्ती लावारिश महिला की सांसे डाक्टरों की लापरवाही के चलते टूटी. बेड नंबर 20 पर मरीज के साथ आए परिजन संजीव कुमार ने बताया कि गुरुवार की सुबह महिला की हालत नाजुक थी. वे तड़प रही थी. उनकी सांसें फूल रही थी. उमानो उनकी सांसें थमने ही वाली थी. हम लोगों ने चारों तरफ डॉक्टर्स से गुहार लगाई लेकिन कोई नहीं आया. थोड़ी देर बाद बेड नंबर 21 शांत हो गया. उसके बाद जूनियर डॉक्टर आए और उन्होंने इस लाश के ऊपर आक्सीजन और ड्रिप भी लगा दी. मृत बॉडी में पानी चढ़ाने की वजह से पूरी बॉडी फूल गई.

किसको पानी चढ़ाया जा रहा था और किसको ऑक्सीजन इस विषय में जानकारी नहीं है. अगर मृत महिला को ऑक्सीजन और पानी चढ़ाया जा रहा था तो कन्ट्रोल रूम को सूचित करिए

दीपक टंडन, अधीक्षक पीएमसीएच