- पोलिंग बूथ में हुआ था ब्रेन हैमरेज, सर्जरी के बाद कोमा में था कर्मचारी

- अफसर जता रहे मामले से अनभिज्ञता, पत्नी ने लगाया लापरवाही का आरोप

dehradun@inext.co.in

DEHRADUN: लोकसभा चुनाव डयूटी के दौरान एक फोर्थ क्लास कर्मचारी को ब्रेन हेमरेज हुआ, दो दिन कोमा में रहने के बाद उसकी 13 अप्रैल को डेथ हो गई. मामले में उसकी पत्नी ने प्रशासन पर इलाज कराने में लापरवाही का आरोप लगाया है. इधर अफसर इस मामले से ही अनभिज्ञता जता रहे हैं.

लाडपुर में लगी थी ड्यूटी
सिंचाई विभाग अवस्थापना खंड डाकपत्थर के कुल्हाल में तैनात फोर्थ क्लास कर्मचारी 39 वर्षीय मनीराम की डयूटी लोकसभा चुनाव के दौरान लाडपुर रिंग रोड के ओकवुड मॉन्टेसरी स्कूल के बूथ नंबर-63 में लगी थी. मनीराम पोलिंग पार्टी के साथ बूथ पर पहुंचा, खाना खाया और फिर अपनी ड्यूटी में लग गया. बताया जा रहा है कि इसी दौरान उसे चक्कर आए और वह फर्श पर गिर गया. पोलिंग पार्टी में शामिल कर्मचारियों ने उसे हॉस्पिटल पहुंचाया. परिजनों को सूचना दी गई, तो मनीराम को परिजन कोरोनेशन हॉस्पिटल से सहारनपुर चौक के पास स्थित प्रेमसुख हॉस्पिटल ले गए. डॉक्टर्स ने ब्रेन हैमरेज बताया और सर्जरी की. इसके बाद वह कोमा में चला गया. 13 अप्रैल को मनीराम की डेथ हो गई. 14 अप्रैल को विकासनगर में उसका अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान मनीराम की पत्‍‌नी मीना देवी ने आरोप लगाया कि पति की तबियत बिगड़ने की सूचना उसे देरी से दी गई और समय पर उसे इलाज नहीं मिला.

दे चुके शपथ पत्र
मनीराम को चुनाव डयूटी के दौरान ब्रेन हैमरेज होने की सूचना परिवार वालों की ओर से जिला निर्वाचन अधिकारी को दी जा चुकी है. इस संबंध में पत्‍‌नी मीना देवी की ओर से शपथ-पत्र दिया गया था. इसके बावजूद अधिकारी इस मामले से अनभिज्ञता जता रहे हैं.

आश्चर्य की बात है कि इतना बड़ा मामला हो गया. कर्मचारी को ब्रेन हैमरेज हुआ, डेथ तक हो गई लेकिन हमको जानकारी नहीं मिली. मामले का पता कर कर्मचारी को इंश्योरेंस दिया जाएगा.

पीएस रावत, जिला सहायक निर्वाचन अधिकारी