तीन थानों की फोर्स ने संभाला मोर्चा, परिजनों ने अस्पताल के डॉक्टर व कर्मचारियों के खिलाफ इलाज में लापरवाही की दी तहरीर

PRAYAGRAJ: नार्मल डिलेवरी से एक बच्ची को जन्म देने के थोड़ी देर बाद दीक्षा केसरवानी (26) की अस्पताल में ही मौत हो गई. उसकी मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया. लोगों के गुस्से को देख अस्पताल के सभी कर्मचारी भाग निकले. सूचना पर तीन थानों की फोर्स के साथ पहुंचे अधिकारियों ने किसी तरह लोगों को शांत कराया. प्रसूता के परिजनों ने डॉक्टरों व स्टॉफ के खिलाफ लापरवाही का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी है.

नार्मल डिलीवरी से पैदा हुई बेटी

उतरांव एरिया के लालापुर गांव निवासी अतुल केसरवानी व्यापारी हैं. छह जनवरी को उनकी पत्‍‌नी दीक्षा को प्रसव पीड़ा हुई. इस पर वे पत्‍‌नी को थरवई स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करा दिए. बताते हैं कि यहां नार्मल डिलेवरी हुई. उसने एक बेटी को जन्म दिया. थोड़ी देर बाद दीक्षा की मौत हो गई. उसकी मौत से परिजनों में कोहराम मच गया. नाराज परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया. लोगों के गुस्से को देखते हुए अस्पताल के कर्मचारी व डॉक्टर भाग निकले और सूचना पुलिस को दिए. जानकारी होते ही औद्योगिक क्षेत्र, नैनी व थरवई थाने की फोर्स के साथ पहुंचे अधिकारियों ने लोगों को शांत कराया. इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.