ऑनलाइन शॉपिंग में 67 परसेंट वृद्धि
सर्वे का कहना है कि देश में ऑनलाइन शॉपिंग के बढ़ते आकर्षण के बीच इस मामले में दिल्‍ली सबसे टॉप पर है. अगर आंकड़ों को देखा जाये तो दिल्‍ली में 1 साल पहले की तुलना में ऑनलाइन शॉपिंग का रुझान 67 परसेंट हाई रहा, जो अन्‍य शहरों की तुलना में सबसे अधिक है. उद्योग मंडल एसोचैम की एक रिपोर्ट में यह रिजल्‍ट सामने आया है. सर्वे के मुताबिक दिल्‍ली में ऑनलाइन शॉपिंग करने के मामले में सालान आधार पर देखा जाये तो 67 परसेंट बढ़ोत्‍तरी हुई है. जबकि पिछले साल यह 58 परसेंट था.

क्‍या है वजह
एसोचैम ने अपनी एक स्‍टडी की है जिसके मुताबिक उन्‍होंने इस की कई वजह भी बताई हैं. स्‍टडी में कहा गया है कि अगर ध्‍यान दिया जाये तो इसका मुख्‍य कारण है, समय का अभाव जिसके चलते दिल्‍ली वाले घर पर बैठकर ही ऑनलाइन के जरिये शॉपिंग कर लेते हैं. इसके साथ ही ऑनलाइन शॉपिंग की सुविधा देने वालों की बेहतर सर्विस का भी इसमें अहम रोल है. एसोचैम महासचिव डी.एस.रावत का कहना है कि दिल्‍ली के लोगों ने बातचीत में इस बात को माना है कि सड़कों और बाजारों में बढ़ती भीड़, मंहगा होता पेट्रोल-डीजल और रोजमर्रा की भागदौड़ भरी जिंदगी के बीच मॉल या बाजारों में जाने के लिये समय निकालना मुश्किल हो गया है.

2023 तक ऑनलाइन का वर्चस्‍व

अगर ऑनलाइन मार्केट के आंकड़ों का एक खाका तैयार किया जाये तो इसमें कई रिजल्‍ट सामने निकलकर आये हैं. ऑनलाइन मार्केट 2009 में 2.5 अरब डॉलर यानी 150 अरब रुपये तक था, जो 2011 में बढ़कर 6.3 अरब डॉलर और 2013 में 16 अरब डॉलर तक पहुंच गया. इसके साथ ही रिसर्चस का मानना है कि साल 2023 तक ऑनलाइन बिक्री कारोबार 56 अरब डॉलर यानी 3360 अरब रुपये तक पहुंच जाने का अनुमान है, जो देश के रिटेल मार्केट का 6.5 परसेंट है. एसोचैम के अनुसार ऑनलाइन शॉपिंग बढ़ने की एक वजह यह है कि इसमें सामान सीधे घर तक पहुंच जाता है.       

Hindi News from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk