-डेंगू और चिकनगुनिया के बाद अब मेरठ में बर्ड फ्लू का खौफ

MEERUT । अभी शहर को डेंगू और चिकनगुनिया के प्रकोप से छुटकारा भी नहीं मिला था कि एक नई बीमारी ने अपने पैर जमाने शुरू कर दिए हैं। बर्ड फ्लू के नाम से उभर कर आई इस नई बीमारी ने स्वास्थ्य विभाग की मुश्किले बढ़ा दी हैं। हालांकि मेरठ में अभी तक ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है, लेकिन दिल्ली व एनसीआर में फैली इस बीमारी को विभाग गंभीरता से ले रहा है।

क्या है मामला

दिल्ली व एनसीआर में इस समय बर्ड फ्लू का भारी प्रकोप फैला है। इस बीमारी के चलते राजधानी में कई चिडि़यों की मौत हो चुकी है, जिसके चलते दिल्ली सरकार ने बर्ड जोन व चिडि़याघर आदि को बंद करने के फैसला किया है। हालांकि इस बीमारी से अभी किसी इंसान के प्रभावित होने की जानकारी सामने नहीं आई है। बावजूद इसके स्वास्थ्य विभाग पूरी सावधानी बरत रहा है। उधर, 50 किमी दूरी पर फैली इस बीमारी को मेरठ स्वास्थ्य विभाग गंभीरता से ले रहा है। विभाग का मानना है कि आने वाले दिनों में यह बीमारी मेरठ के लिए भी एक नया संकट खड़ा कर सकती है।

नहीं मिला कोई केस

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अभी मेरठ में बर्ड फ्लू का कोई केस सामने नहीं आया है। हालांकि कुछ चिडि़यों की प्राकृतिक मौत के मामले जरूर सामने आए हैं। जिला अस्पताल के सीनियर फिजीशियन डॉ। एसके गुप्ता ने बताया कि डेंगू की तरह यह भी एक गंभीर रोग है। चिडि़यों से यह बीमारी इंसान को चपेट में ले लेती है, जिससे उसकी हालत खराब हो जाती है।

मेरठ में अभी तक बर्ड फ्लू का एक भी केस सामने नहीं आया है। विभाग की ओर से सावधानी बरती जा रही है।

इसको लेकर बैठक की जा रही हैं।

डॉ। एसके गुप्ता, सीनियर फिजीशियन जिला अस्पताल