- आरोपी गिरिजा, पति मोहन व बेटी कंचनलता एसआईटी की रिमांड पर

- जवाब देने में आनाकानी करते रहे आरोपी

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: देवरिया में बालिका गृह कांड में पुलिस कार्रवाई में देरी को लेकर तत्कालीन सीओ सिटी पर आखिरकार गाज गिर ही गई. शनिवार रात उन्हें सस्पेंड कर दिया गया. उधर, मामले की मुख्य आरोपी गिरिजा त्रिपाठी, उसकी अधीक्षक बेटी कंचनलता व पति मोहन को 72 घंटे की रिमांड पर लेने के साथ ही एसआईटी ने पूछताछ तेज कर दी है. गिरिजा व उसकी बेटी कंचनलता से महिला थाने में साढ़े छह घंटे तक बंद कमरे में पूछताछ हुई. इस दौरान दोनों उलझती नजर आई और कई सवालों के जवाब देने में उनको पसीना छूट गया.

कई और अधिकारियों पर कार्रवाई की तलवार

देवरिया कांड में शनिवार की रात शासन ने सीओ सिटी दयाराम को भी सस्पेंड कर दिया. इससे पहले मामले में एसपी रोहन कनय व सीओ दयाराम का ट्रांसफर कर दिया गया था जबकि, इंस्पेक्टर वीके सिंह गौर और चौकी इंचार्ज जटाशंकर सिंह को सस्पेंड कर दिया गया था. गौरतलब है कि देवरिया के रेलवे स्टेशन रोड पर स्थित बालिका गृह में देवरिया पुलिस ने पांच अगस्त की रात छापेमारी कर संचालिका गिरिजा त्रिपाठी और उनके पति को गिरफ्तार किया था. तत्कालीन एसपी रोहन पी कनय ने बाल गृह बालिका की आड़ में देह व्यापार होने का दावा किया था. पुलिस के इस सनसनीखेज पर्दाफाश के बाद शासन स्तर तक हड़कंप मच गया था. दूसरे दिन ही देवरिया के जिलाधिकारी को हटाने के साथ ही शासन ने एडीजी जोन दावा शेरपा को पूरे प्रकरण की जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था. बताया जा रहा है कि अभी कई और अधिकारियों पर कार्रवाई की जा सकती है.

बेटी से मिले सुराग

एसआईटी की पूछताछ में मुख्य आरोपी गिरिजा त्रिपाठी की बेटी कंचनलता से कुछ सुराग भी हाथ लगे हैं. जिनसे केस की कडि़यां जोड़ने की कवायद शुरू कर दी गई है. जबकि, गिरिजा के पति मोहन से भी एसआईटी ने सदर कोतवाली के विजिटर रूम में घंटों पूछताछ की. दावा है कि जल्द ही पूरी कहानी सामने आ जाएगी. रिमांड पर लेने के बाद रविवार की सुबह मोहन को कोतवाली में रखा गया, जबकि गिरिजा व उसकी बेटी को महिला थाने में दस बजे से एसआईटी में शामिल आईपीएस भारती सिंह, पूनम व एसटीएफ प्रभारी ने लगातार साढ़े छह घंटे तक पूछताछ की. टीम ने गिरिजा व कंचनलता से बालिका गृह आने वाली लग्जरी गाडि़यों, वीआईपी व किस लड़की को कहां भेजा जाता था जैसे जानकारी जुटाने की कोशिश की.