डेंगू की रोकथाम के लिए जारी की एडवाइजरी, लार्वा चेकिंग के लिए टीम गठित

Meerut. बढ़ती गर्मी से निजात पाने के लिए अगर आपने बिना सफाई किए कूलर चला लिया है तो जरा सावधान हो जाएं. इसमें डेंगू का लार्वा हो सकता है और कूलर में पानी डालने के 24 घंटे बाद ही यह एक्टिव भी हो जाएगा. पिछले साल डेंगू के सैकड़ो केस मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग अभी से ही तैयारी में जुट गया है. इसके मद्देनजर वैक्टर बॉर्न डिजीज से बचाव के लिए एडवाइजरी भी जारी कर दी गई है.

टीमें ढूंढ रही लार्वा

जिला मलेरिया विभाग की ओर से इस बार अप्रैल में ही वैक्टर बॉर्न डिजीज से बचाव के लिए लार्वा ढूंढने के लिए दो टीमें बना दी गई हैं. इस दौरान आरएफ सेंटर समेत कई जगहों पर लार्वा की चेकिंग भी की गई हैं. हालांकि इस सर्वे के लिए 3-3 सदस्यों की यह दो टीमें पूरे शहर की मैपिंग कर रही हैं. इसके अलावा हाई रिस्क जोन जैसे डंपिंग जोन पर विभाग की ओर से निगम को चूना छिड़कने के लिए भी कहा गया है.

इन बातों का रखें ख्याल

चिडि़यों के लिए रखे सकोरे को रोजाना रगड़कर साफ करें. इसमें जमा पानी में भी लार्वा हो सकता है.

घर के अंदर और बाहर रखे गमलों और उसके नीचे लगी प्लेटों का पानी रोजाना साफ करे.

कूलर के पानी को रोजाना बदले और हफ्ते में एक बार तेज धूप में सुखाएं

कूलर के पैड और एसी डक्ट को अच्छे से साफ करें

कही भी साफ पानी जमा न होने दें.

पिछले साल डेंगू के 660 केस मिले थे. इस बार हमने पहले ही तैयारी शुरु कर दी है. सर्वे करवाया जा रहा है. पानी में लार्वा मिलने पर उसे तुरंत नष्ट कर दें

डॉ. योगेश सारस्वत, जिला मलेरिया अधिकारी