ताबड़तोड़ वारदातों पर शासन ने लिया संज्ञान

मेरठ में क्राइम बढ़ने से डीजीपी खफा

अपराधी बेलगाम, छेड़छाड़, लूट व हत्या का बढ़ा ग्राफ

Meerut : शहर में लगातार हो रहे क्राइम से डीजीपी ओपी सिंह काफी नाराज हैं. इसके लिए उन्होंने मेरठ पुलिस को क्राइम कंट्रोल करने के लिए एक हफ्ते का समय दिया है. इसके बाद वह मेरठ के पुलिस अधिकारियों की अपराध से संबंधित ऑनलाइन समीक्षा करेंगे.

ये है मामला

नौचंदी, ब्रह्मपुरी, लिसाड़ी गेट, रेलवे रोड, सिविल लाइन, कोतवाली थानों में पिछले 15 दिनों के अंदर महिला अपराध के 20 मामले दर्ज हुए हैं, जिसमें नौचंदी थाना क्षेत्र में एक बालिका के साथ रेप का मुकदमा भी है. सरधना में दसवीं कक्षा को मनचलों ने कैरोसिन डालकर जला ि1दया था.

अपराध का बढ़ा ग्राफ

पंद्रह दिनों में सबसे ज्यादा वह छेड़छाड़ के बाद सरधना की छात्रा को जलाने वाली घटना से नाराज बताए जा रहे है. इसके साथ चेन व पर्स लूट के 45 मामले सामने आ चुके हैं.

नहीं हो सका खुलासा

अभी हाल में करीब आठ हत्याएं हो चुकी हैं, जिसकी जांच पेंडिंग पड़ी है. पुलिस ने अभी तक हत्याओं का खुलासा तक नहीं किया है.

नसरीन हत्याकांड - ब्रह्मपुरी के माधवपुरम मोड़ पर बदमाशों ने नसरीन की गोली बरसा कर हत्या कर दी. अभी तक यह केस अनसुलझा है.

अंकुर राजवंशी - दस दिन पहले ही बिजली बंबा बाईपास पर बदमाशों ने अंकुर राजवंशी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. अभी तक यह केस ब्लाइंड है.

दानिश हत्याकांड - शास्त्री नगर में बदमाशों ने प्रोपर्टी डीलर दानिश व उसके भाई सुहैब को गोली मार दी थी, जिसमें दानिश की मौके पर मौत हो गई थी.

मेहर चंद हत्याकांड - परतापुर थाना क्षेत्र के कसाना गेस्ट हाउस में कसाना गेस्ट हाउस के मालिक मेहर चंद कसाना की बदमाशों ने हत्या कर दी थी. अभी तक केस पंडिंग पड़ा हुआ है.

----------

एक हफ्ते बाद डीजीपी ओपी सिंह के साथ मेरठ के क्राइम को लेकर मीटिंग प्रस्तावित है. सभी इंस्पेक्टर व एसओ को अपनी थानों में केसों की पेंडेंसी खत्म करने के आदेश जारी कर दिए हैं.

राजेश कुमार पांडे, एसएसपी