- गुड वर्क के जरिए क्राइम कंट्रोल का होगा बेहतर प्रदर्शन

- तैयारी को लेकर हांफ रही है जिले की पुलिस, कोना-कोना चमकाने में जुटी

Meerut: डीजीपी के सामने पुलिस की खाकी बदरंग न हो जाए इसके लिए वह अपना रिकॉर्ड चमकाने में जुट गई है. सोमवार को डीजीपी का दौरा है. कोई नहीं जानता वे किस मुद्दे को लेकर रिपोर्ट तलब कर लें. ऐसे में अपनी साख बचाने के लिए अधिकारी क्राइम से रिलेटेड सभी रिकॉर्ड को जुटाने में लगी है. डीजीपी ने हर जिले से डर्टी ट्वेल्व की लिस्ट फाइनल कर गिरफ्तार करने के आदेश दिए थे. ऐसे में पुलिस अधिकारी अपने गुडवर्क के सहारे क्राइम कंट्रोल के बेहतर प्रदर्शन को प्रदर्शित करने की कवायद में जुट गए हैं. अधिकारी चौकन्ने हैं. दौरे से पहले तैयारी को लेकर कोई भी कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं.

कहीं बगले न झांकना पड़े

डीजीपी का दौरान 9 मई को है. जिसको लेकर पूरा पुलिस महकमा हांफ रहा है. डीजीपी आला अधिकारियों के साथ सीओ और एसओ की भी क्लास लेंगे. ऐसे में उनके सवालों के जवाब की तैयारी में हर कोई जुटा है. पता नहीं डीजीपी किस से कौन सवाल पूछ बैठे कि बैठक में उन्हें बगले झांकने पड़े. क्राइम के पैमाने पर हर जानकारी और रिपार्ट को तैयार किया जा रहा है. यही नहीं उनके औचक निरीक्षण को लेकर शहर के सभी थाने व पुलिस कार्यालयों को चमकाया जा रहा है. पुलिस लाइन हो या फिर पुलिस ऑफिस, या फिर शहर व देहात के सभी थाने. हर जगह साफ-सफाई का अभियान जोरो पर है.

शातिर बदमाशों का खाका तैयार

क्राइम कंट्रोल दौरे के दौरान का पहला मुद्दा होगा. हाल ही में इसको लेकर डीजीपी ने जिले के टॉप 12 बदमाशों की लिस्ट तैयार कर उनको पकड़ने का आदेश दिया था. कहीं डीजीपी बदमाशों की लिस्ट न तलब कर लें. इसको लेकर पूरा महकमा हाल ही में किए गए गुडवर्क का खाका तैयार करने में जुट गया है. जितनी भी बड़ी घटनाओं के खुलासा किए गए. उनमें कितने दिनों में बदमाशों को पकड़ने में सफलता मिली, कितने शातिर बदमाश पकड़े गए, कितना माल बरामद किया गया और कितने असलहे बरामद किए गए, इन सभी का रिकॉर्ड बनाया जा रहा है. ताकि डीजीपी जब टॉप 12 बदमाशों की चर्चा करें तो अपने गुड वर्क के जरिए वे साख बचाने में कामयाब हो सकें. यही नहीं थाना वार हिस्ट्रीशीटर की लिस्ट तैयार की जा रही है. इस वक्त उनकी क्या गतिविधियां हैं, कहां पर पनाह लिए हैं. इन सभी हिस्ट्रीशीटर और वांछित की गिरफ्तारी जोरो पर है. इसके लिए रात में जमकर दबिश दी जा रही है.