वर्ष 2018 वर्ष 2017

150 करोड़ -ज्वैलरी 120 करोड

115करोड़ -इलेक्ट्रॉनिक्स, 89-करोड़

17करोड़ -बर्तन 15 करोड़

46 करोड़-ऑटो मोबाइल 90 करोड़

200 करोड़ -गारमेंट्स 118 करोड़

100 करोड़- रियल एस्टेट 155 करोड़

========

BAREILLY

धनतेरस और दिवाली पर इस बार कैशलेस शॉपिंग का खूब ट्रेंड दिखा. त्योहार पर हुई धनवर्षा ने मार्केट की मंदी दूर कर दी. मार्केट की रौनक देख व्यापारी भी खुश है. व्यापारियों के आंकड़ों पर गौर करें फरमाएं तो धनतेरस और दिवाली पर 628 करोड़ की धनवर्षा हुई. इस बार कैशलेस का ट्रेंड देखते हुए व्यापारियों ने भी पहले से ही स्वाइप मशीन को रेडी कर लिया था. कई शॉप ओनर ने स्वाइप मशीनों की संख्या भी बढ़ाई थी.

अलग-अलग रहा ट्रेंड

धनतेरस और दिवाली पर अलग-अलग मार्केट में अलग आइटम का ट्रेंड दिखा. इलेक्ट्रॉनिक्स मार्केट में एलईडी, वाशिंग मशीन और फ्रिज, तो गारमेंट्स में धोती कुर्ता और विटंर कपड़ों की डिमांड अधिक रही. वहीं रियल एस्टेट में इस बार बीडीए अप्रूव्ड कॉलोनी में प्लॉट और मकानों की डिमांड रही. वहीं ऑटो मार्केट में मीडियम कार और अधिक सीसी की बाइक्स की डिमांड रही. कई कस्टमर्स ने पहले से ही अपने आइटम बुक कर दिए थे, लेकिन धनतेरस और दिवाली की शुभ मूहुर्त में डिलीवरी ली.

जीएसटी-नोटबंदी बेअसर

मार्केट में काफी समय से मंदी का दौर चल रहा था. व्यापारियों का कहना है कि नोट बंदी और जीएसटी के बाद मार्केट ने ग्रोथ बंद सा कर दिया था. जिसके कारण मार्केट में व्यापारी भी परेशान होते थे, लेकिन दिवाली में मार्केट का मूड बढि़या रहा. क्योंकि एक साथ जीएसटी और नोटबंदी होने से पब्लिक को प्रॉब्लम हो गई थी. इस बार मार्केट ने जमकशॉपिंग की, जिससे बाजार में मंदी छंट गई.

-------

इस बार दिवाली काफी अच्छी रही. व्यापारियों के लिए सुपर तो नहीं कहा जा सकता है, लेकिन फिर भी दिवाली पर अच्छा बिजनेस रहा. सुख शांति से दिवाली का त्योहार मनाया गया.

घनश्याम खंडेलवाल, पूर्व अध्यक्ष चैम्बर आॅफ कॉमर्स

------------------

सर्राफ बाजार में इस बार हॉलमार्क की डिमांड रही. पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष ज्वैलरी में 25 से 30 प्रतिशत का ग्रोथ रहा. मार्केट में फाइनेंस की सुविधा का भी कस्टमर्स ने लाभ लिया.

संदीप अग्रवाल, सर्राफ एसोिसएशन अध्यक्ष

-------------------

इस बार मार्केट ने पिछली बार की अपेक्षा दोगुना का ग्रोथ किया है. रीजन इस बार एक तो दिवाली थी दूसरे कुछ ठंड शुरू हो गई जिस कारण लोगों ने दिवाली के साथ ठंड के कपड़ों की शॉपिंग भी की.

दर्शन लाल भाटिया, गारमेंट्स एसोिसएशन अध्यक्ष

---------------

ऑटो मार्केट ने धनतेरस और दिवाली काफी ग्रोथ किया है. अच्छा रहा त्योहार, लेकिन यही कहूंगा कि इस बार ऑफर के साथ फाइनेंस की आसानी कस्टमर्स को प्रॉब्लम नहीं हुई, और लोगों ने जमकर शॉपिंग की.

नवनीत अग्रवाल, कार शोरूम ओनर

-----

मार्केट में पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार भी कोई विशेष ग्रोथ तो नहीं था. इस वर्ष 20 प्रतिशत ही ग्रोथ रहा लेकिन अच्छा रहा. मार्केट में 60 प्रतिशत शॉपिंग कैशलेस ही हुई. फाइनेंस की सुविधा कस्टमर्स को खूब पंसद आई.

हरीश अरोरा, इलेक्ट्रॉनिक्स सिविल लाइंस ट्रेडर्स एसोसिएशन सचिव

-----------

काफी समय से रियल एस्टेट मार्केट मंदी थी, लेकिन इस बार मार्केट करीब 100 करोड़ से अधिक का रहा. अब रियल एस्टेट में बीडीए अप्रूव्ड कॉलोनी ही विकसित कर रहे हैं. क्योंकि बाद में कस्मटर्स को प्रॉब्लम होती थी. अब प्रापर्टी के लिए 90 प्रतिशत तक फाइनेंस की सुविधा के कारण कस्टमर्स बढ़े हैं.

अमित अग्रवाल, अध्यक्ष, रियलटर्स एसोसिएशन ऑफ बरेली

मार्केट ने ग्रोथ किया इस बार इससे व्यापारी खुश है. यह अच्छी बात है कि व्यापारियों और कस्टमर्स सभी ने सरकार के रूल्स को फॉलो करना शुरू किया है. चाहे वह जीएसटी हो या फिर कैशलेस प्रक्रिया हो. मार्केट में भी विदेश आइटम की जगह लोगों में देशी आइटम के प्रति रूझान बढ़ा है.

डॉ. केशव अग्रवाल, अध्यक्ष चैम्बर ऑफ कॉमर्स