धर्म संसद ने कहा हटेंगी साई मूर्तियां
छत्तीसगढ के कवर्धा में हुई धर्म संसद में संतों ने यह तय किया है कि अब साईं बाबा की मूर्तियों को मंदिरों से हटाया जाएगा. इसके साथ ही संतों ने अपनी कल की मीटिंग में साईं को भगवान, संत या कोई अन्‍य पदवी देने से इंकार कर दिया. इस धर्म संसद में साईं की मूर्तियां हटाने का प्रस्‍ताव तो पास हो गया है लेकिन इसके लिए कोई समयसीमा तय नही की गई हैं. गौरतलब है कि इस मीटिंग में शंकराचार्य स्‍वरुपानंद सरस्‍वती और शिरडी के साईं बाबा को मानने वाले एक दूसरे से भिड़ पड़े.  

साईं भक्‍तों से हुई मारपीट
धर्मसंसद की कार्यवाही के दौरान जब एक साईं भक्‍त ने शंकराचार्य के ऊपर प्रश्‍न उठाया तो शंकराचार्य भक्‍त आगबबूला हो गए. एक शंकराचार्य भक्‍त ने साईं भक्‍त को बिना पानी पिए अनशन पर बैठने का चैलेंज किया तो अन्‍य संत भावावेश में आकर धक्‍का-मुक्‍की पर उतर आए. इसके बाद साईं भक्‍तों को मंच से नीचे उतार दिया.

एक महीने में बनेगा राम मंदिर
इस धर्म संसद में साईं की मूर्तियां हटाने का प्रस्‍ताव पास होने के अलावा एक और विवादित प्रस्‍ताव के ऊपर स‍हमति ली गई. धर्म संसद में अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण कार्य आरंभ करने के प्रस्‍ताव को पास कर लिया गया है. गौरतलब है कि अयोध्‍या के राम मंदिर का मुद्दा न्‍यायालय में लंबित है.

Hindi News from India News Desk

National News inextlive from India News Desk