KANPUR: इन दिनों हॉकी लीजेंड फ्लिकर किंग संदीप सिंह की बायोपिक फिल्म सूरमा काफी चर्चा में है। वजह यह है कि संदीप सिंह की लाइफ की स्टोरी बहुत इंस्पायरिंग है। ऐसा इसलिए क्योंकि वह पैरालाइज्ड होने के बाद दोबारा पैरों पर खड़े हुए और इंडिया के लिए इतने सम्मान हासिल किए। 
मिलेगी हॉकी स्टिक: सूरमा के डायरेक्टर शाद अली ने संदीप सिंह के उसी जज्बे को सलाम करते हुए इस स्टोरी को दिखाने की कोशिश की है। दिलजीत दोसांझ इसमें संदीप सिंह का रोल प्ले कर रहे हैं। जागरण डॉट कॉम से बातचीत में दिलजीत से जब यह सवाल पूछा गया कि क्या उन्हें इस फिल्म को करने के लिए संदीप सिंह से कोई खास रिवॉर्ड मिला है तो दिलजीत ने जवाब देते हुए बताया कि उन्हें संदीप भाई ने कहा है कि जिस स्टिक से उन्होंने सबसे ज्यादा गोल किए हैं, वह उन्हें गिफ्ट में देंगे और शायद वो स्टिक उन्हें फिल्म देखने के बाद मिले। दिलजीत आगे कहते हैं कि उन्होंने कहा है तो वह देंगे ही पर वो इसे सामने से मांगने नहीं जाएंगे। 
पूरा दिन ग्राउंड पर: दिलजीत ने बताया कि इस फिल्म की तैयारी में उन्हें काफी दिक्कतें आईं क्योंकि वह बचपन में कोई भी गेम खेलना पसंद नहीं करते थे और उन्होंने कभी हॉकी स्टिक पकड़ी भी नहीं थी। हर प्लेयर की एक अगल बॉडी लैंग्वेज होती है। ऐसे में इस कैरेक्टर को प्ले करना काफी टफ था। दिलजीत ने बताया कि उन्हें सिर्फ स्ट्रोक्स को ठीक करने में 15-20 दिन लग गए थे। तीन-चार महीने सिर्फ हॉकी ही हॉकी खेली। 
13 जुलाई को रिलीज होगी फिल्म: फिर जब फिल्म शुरू हुई तो हर रोज प्रैक्टिस के लिए जाते थे। हॉकी पर फिल्म है तो सारा दिन वो ग्राउंड पर ही होते थे। शूटिंग के बाद संदीप सिंह और उनके बड़े भाई के साथ फिर से हॉकी खेलते थे। उसके बाद बातें भी हॉकी पर ही होती थी। ये फिल्म 13 जुलाई को रिलीज हो रही है। 

features@inext.co.in

KANPUR: इन दिनों हॉकी लीजेंड फ्लिकर किंग संदीप सिंह की बायोपिक फिल्म सूरमा काफी चर्चा में है। वजह यह है कि संदीप सिंह की लाइफ की स्टोरी बहुत इंस्पायरिंग है। ऐसा इसलिए क्योंकि वह पैरालाइज्ड होने के बाद दोबारा पैरों पर खड़े हुए और इंडिया के लिए इतने सम्मान हासिल किए। 

मिलेगी हॉकी स्टिक: सूरमा के डायरेक्टर शाद अली ने संदीप सिंह के उसी जज्बे को सलाम करते हुए इस स्टोरी को दिखाने की कोशिश की है। दिलजीत दोसांझ इसमें संदीप सिंह का रोल प्ले कर रहे हैं। जागरण डॉट कॉम से बातचीत में दिलजीत से जब यह सवाल पूछा गया कि क्या उन्हें इस फिल्म को करने के लिए संदीप सिंह से कोई खास रिवॉर्ड मिला है तो दिलजीत ने जवाब देते हुए बताया कि उन्हें संदीप भाई ने कहा है कि जिस स्टिक से उन्होंने सबसे ज्यादा गोल किए हैं, वह उन्हें गिफ्ट में देंगे और शायद वो स्टिक उन्हें फिल्म देखने के बाद मिले। दिलजीत आगे कहते हैं कि उन्होंने कहा है तो वह देंगे ही पर वो इसे सामने से मांगने नहीं जाएंगे। 

सूरमा के लिए सारा दिन ग्राउंड पर रहते थे दिलजीत

पूरा दिन ग्राउंड पर: दिलजीत ने बताया कि इस फिल्म की तैयारी में उन्हें काफी दिक्कतें आईं क्योंकि वह बचपन में कोई भी गेम खेलना पसंद नहीं करते थे और उन्होंने कभी हॉकी स्टिक पकड़ी भी नहीं थी। हर प्लेयर की एक अगल बॉडी लैंग्वेज होती है। ऐसे में इस कैरेक्टर को प्ले करना काफी टफ था। दिलजीत ने बताया कि उन्हें सिर्फ स्ट्रोक्स को ठीक करने में 15-20 दिन लग गए थे। तीन-चार महीने सिर्फ हॉकी ही हॉकी खेली। 

13 जुलाई को रिलीज होगी फिल्म: फिर जब फिल्म शुरू हुई तो हर रोज प्रैक्टिस के लिए जाते थे। हॉकी पर फिल्म है तो सारा दिन वो ग्राउंड पर ही होते थे। शूटिंग के बाद संदीप सिंह और उनके बड़े भाई के साथ फिर से हॉकी खेलते थे। उसके बाद बातें भी हॉकी पर ही होती थी। ये फिल्म 13 जुलाई को रिलीज हो रही है। 

ये भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत बने डकैत, 'सोन चिडि़या' के फर्स्ट लुक के साथ रिलीज डेट भी हुई जारी

ये भी पढ़ें: भारत में जल्द सिल्वर स्क्रीन पर दिखेगी मलाला की बॉयोपिक, जारी हुआ पोस्टर

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk