- रायपुर के अस्थल इलाके में तेज बारिश से घरों में घुसा मलबा, फसल बर्बाद

- स्थानीय लोगों ने खुले आसमान के नीचे गुजारी बच्चों के साथ रात

- सूचना मिलने के बाद दूसरे दिन पहुंची जिला प्रशासन की टीम, मुख्य सड़क मार्ग को खोला गया

>DEHRADUN: गुरुवार देर रात रायपुर के मालदेवता रोड पर स्थित अस्थल इलाके में मूसलाधार बारिश ने कहर बरपाया. कई घरों में तबाही जैसे हालात बने रहे. लोगों ने अपने नौनिहालों के साथ घर के बाहर दहशत में रात गुजारी, कई बीघा फसल बर्बाद हो गई. सूचना मिलने के बाद स्थानीय विधायक उमेश शर्मा व जिला प्रशासन की टीम शुक्रवार सुबह मुश्किल से राहत कार्यो के लिए मौके पर पहुंच पाई. लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी. सिंचाई विभाग के अलावा स्थानीय लोगों का आरोप है कि पीडब्ल्यूडी विभाग की लापरवाही के कारण इलाके में तबाही जैसे हालात हुए हैं.

खाने-पीने की सामग्री तक बही

दून में लगातार हो रही तेज बारिश कई इलाकों में कहर बरपा रही है. गुरुवार देर रात रायपुर के मालदेवता रोड पर स्थित अस्थल में भी बारिश के कुछ ऐसा कहर बरपाया. देर शाम मूसलाधार बारिश से अस्थल में इलाके में कई घरों मलबा घुस गया और स्थानीय लोगों का सारा खाने-पीने का सामान बह गया. स्थानीय लोगों का आरोप हैं कि सड़क चौड़ीकरण को लेकर पिछले तीन महीने पहले पीडब्ल्यूडी ने खुदाई की थी. लेकिन पहाड़ के नीचे किसी प्रकार की प्रोटेक्शन वाल नहीं बनाई. जिसके कारण गुरुवार को तेज बारिश होने से पहाड़ से मलबा गिरा और सड़क के दूसरे हिस्से में रह रहे तीन-चार घरों में मलबा घुसने से काफी नुकसान पहुंचा. स्थानीय किसान मस्त राम डोभाल का कहना है कि जिस वक्त पीडब्ल्यूडी सड़क चौड़ीकरण को लेकर काम कर रहा था, उसी वक्त स्थानीय लोगों ने प्रोटेक्शन वाल की मांग की थी. लेकिन पीडब्ल्यूडी विभाग ने उनकी बिल्कुल भी नहीं सुनी. स्थानीय निवासी सोहन लाल भट्ट के घर पर मलबा गिरने से खाने-पीने के सामग्री बह गई. पूरी रात उन्हें दहशत में गुजारनी पड़ी. मस्तराम डोभाल का कहना है कि उन्होंने बच्चों को रातभर गोद में लेकर खुले आसमान के नीचे रात गुजारी. सिंचाई विभाग का भी कहना है कि उन्होंने इस बावत पीडब्ल्यूडी विभाग को कई बार पत्र लिख दिया था.

ब्0 बीघा फसल चौपट

गुरुवार को रायपुर के अस्थल इलाके में तेज बारिश से मलबा आने के कारण करीब ब्0 बीघा फसल चौपट हो गई. अस्थल इलाके में सिंचाई विभाग की पुरानी बड़ी अंडरग्राउंड नहर भी है. जिससे रोजाना कई क्यूसेक पानी सप्लाई होता है. बताया जा रहा है मलबा आने से नहर को नुकसान पहुंचता तो तबाही का मंजर कुछ और होता. इधर, रायपुर अस्थल इलाके में भारी बारिश के बीच मलबा आने के कारण कई घरों को नुकसान पहुंचने की सूचना के बाद जिला प्रशासन काफी देर बाद मौके पर पहुंचा. तब तक काफी देर हो चुकी थी. स्थानीय विधायक के साथ एसडीएम सदर मौके पर पहुंचे. जिसके बाद जेसीबी के जरिए मलबा हटाने का कार्य शुरू किया गया और अवरुद्ध सड़क को खोला गया.

मसंदावाला में भी कई घरों में घुसा पानी

मसूरी विधायक गणेश जोशी ने अपर जिलाधिकारी राजस्व वीर सिंह बुंदियाल सहित राजस्व वन ग्रामीण निर्माण विभाग पुलिस विभाग के अफरा-तफरी का माहौल रहा. गुरुवार रात को तेज बारिश के कारण मसंदावाला गांव के ऊपरी हिस्से से लगातार बाढ़ व मलबा आने से ग्रामीणों ने पूरी रात खुले आसमान के नीचे बिताई. सूचना मिलने के बाद शुक्रवार को स्थानीय विधायक गणेश जोशी व जिला प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे. विधायक द्वारा विधायक निधि से क्0 लाख रुपए की धनराशि की स्वीकृति दी गई है. जिनके जरिए पुश्ता निर्माण का कार्य किया जाएगा. एडीएम राजस्व वीर सिंह बुंदियाल ने कहा कि जिला प्रशासन दोनों गांवों के कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर लेते हुए निर्माण कार्य करवाएगा. उन्होंने कहा कि पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को तत्काल गड्ढामुक्त सड़क निर्माण के लिए निर्देश दिए जाएंगे.

अभी भी जिले के कई मोटरमार्ग बंद

लगातार हो रही बारिश से जिले में कई मोटरमार्ग बंद है. जिला आपदा कंट्रोल रूम के मुताबिक कार्लीगाढ सरोना मोटर मार्ग, ऋषिकेश के अंतर्गत गौहरीमाफी से रायवाला, टिहरी फार्म बिढला मंदिर मोटर मार्ग भी अभी तक बंद है. वहीं, सहिया में दौधा संपर्क मोटर मार्ग, शंभू की चौकी पंजिया मोटर मार्ग बंद है. इन सभी मार्गो को खोलने के प्रयास जारी हैं.