i follow up

हत्यारोपी दो युवक गिरफ्तार, दो अन्य की तलाश में दबिश जारी

- पुलिस की गिरफ्त में आए दो नामजद आरोपियों से पूछताछ जारी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: डिप्टी सीएम के करीबी भाजपा सभासद पवन केसरी की हत्या में सियासी रंजिश की बात सामने आ रही है. पवन के भाई रोहित ने हत्या का आरोप लगाते हुए सिराज उर्फ सोनू और परवेज आलम उर्फ जिलानी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है. पुलिस ने दोनों नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है. हत्याकांड में शामिल दो अन्य की तलाश में दबिश दे रही है.

बीते साल से चल रही अदावत

सियासी अदावत में बीते साल फूलपुर निवासी मनोज तिवारी को गोली मारी गई थी. दसमें सोनू और उसके भाई शहजादे समेत अन्य के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई थी. मनोज पर हमले के विरोध में पवन केसरी ने धरना प्रदर्शन किया था. अभियुक्तों का मकान भी फूंक दिया गया था. घटना के कुछ माह बाद सोनू के भाई शहजादे की फूलपुर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. शहजादे के कत्ल में मनोज तिवारी समेत कई युवक आरोपी बनाए गए थे. सपा नेता व एक अन्य को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेजा था. मनोज फरार चल रहा है. शहजादे हत्याकांड की जांच सीबीसीआईडी से कराने की संस्तुति हुई थी. पवन के परिजनों का आरोप है कि मनोज की पैरवी करने और सीबीसीआईडी जांच की सिफारिश करवाने से सिराज व अन्य लोग खफा थे. इस कारण उन्होंने साजिश रचकर पवन की हत्या कराई. एफआईआर में आरोप है कि कर्नलगंज निवासी सिराज व इस्माइलगंज निवासी परवेज आलम ने दो साथियों के साथ मिलकर पवन केसरी की हत्या की. पुलिस फरार अभियुक्तों की तलाश में छापेमारी कर रही है.

पिटाई पर हुआ था झगड़ा

भाजपा नेता आलोक गुप्ता ने पुलिस को बताया कि कत्ल से तीन दिन पहले पावर हाउस पर संविदाकर्मी मूलचंद्र को आरोपित परवेज ने पीटा था. तब मामले को लेकर पवन और परवेज के बीच कहासुनी हुई थी. यह भी कहा जा रहा है कि फूलचंद्र ने घटना की लिखित शिकायत थाने पर दी थी, लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी.

मायके आई थी उर्मिला, गई ससुराल

हत्याकांड के दौरान हुई फायरिंग में गोली से जख्मी होने वाली महिला उर्मिला फूलपुर कस्बा में अपने मायके आई थी. करीब पांच दिन पहले ही वह पिता बेहल के घर आई थी. यहां उसके भाई की लड़की का थवना था. मंगलवार रात जब वह अपने मकान के बाहर चारपाई पर लेटी थी, तभी उसके पैर में गोली लगी थी. फिलहाल स्वरूपरानी अस्पताल में इलाज के बाद वह अपने ससुराल सैदाबाद के ढोकरी गांव चली गई.