आगरा। एक तरफ आगरा कैंट स्टेशन को व‌र्ल्ड लेवल पर विकसित करने की बात कही जा रही है। वहीं दूसरी ओर स्टेशन पर व्याप्त अव्यवस्थाओं की ओर किसी का ध्यान नहीं है। स्टेशन पर विचरण करते श्वानों से पैसेजर्स दहशत में बने रहते हैं। पीने के लिए ठंडे पानी की व्यवस्था नहीं है। इसके अलावा कई ऐसी अव्यवस्थाएं हैं, जो स्टेशन पर नजर आती हैं। ऐसे में यहां आने वाले टूरिस्ट स्टेशन की एक नेगेटिव छवि लेकर वापस जाते हैं।

इक्वायरी विन्डो से लेकर टिकट एटीएम तक श्वानों का कब्जा

कैंट स्टेशन पर श्वानों का इतना खौफ है कि स्टेशन पर पहुंचने वाले पैसेंजर्स को हर समय इनके काटने का डर सताए रहता है। इंक्वायरी विन्डो से लेकर टिकट एटीएम मशीनों पर भी श्वान घूमते नजर आते हैं। ऐसे में पैंसेजर्स चाहते हुए भी इंक्वायरी विन्डो से ट्रेन के संचालन के बारे में जानकारी नहीं जुटा पाते हैं। बड़ा सवाल ये हैं कि कहने को स्टेशन पर जीआरपी और आरपीएफ के जवानों की तैनाती रहनी चाहिए, लेकिन रविवार को वे मौके से नदारद दिखे। हां सरकुलेटिंग एरिया में कुछ आरपीएफ के कांस्टेबल जरूर बैठे दिखे।

भीषण गर्मी में पैसेंजर्स को ठंडे पानी की तलाश

आगरा कैंट रेलवे स्टेशन को कहने को ए ग्रेड की श्रेणी का दर्जा प्राप्त है। रेलवे अफसरों के अनुसार इस स्टेशन को व‌र्ल्ड लेवल के स्टेशन के रूप में विक सित किया जा रहा है, लेकिन यहां पैसेंजर्स ठंडे पानी के दो घूंट के लिए भटकते देखे जा सकते हैं। अफसरों के अनुसार स्टेशन पर 10 वाटर प्वाइंट लगे हैं। लेकिन ठंडे पानी को लेकर दिक्कत है। ऐसे में वेन्डर ठंडे पानी की बोटल बेचकर खूब चांदी काटते हैं। बता दें कि जो वाटर एटीएम लगे हैं, उनमें एक बार में 250 ली। पानी आता है। कैंट स्टेशन पर हर रोज 25 से 30 हजार पैसेजर्स का आवागमन होता है। ऐसे में ठंडा पानी जल्द खत्म हो जाता है। दुबारा ठंडा करने में काफी टाइम लगता है। कहने को 10 वाटर प्वाइंट हैं, लेकिन कुछ काम नहीं कर रहे हैं। इस बात की जानकारी अफसरों को भी है।

प्लेटफॉर्म नं वाटर प्वाइंट

4 3

2 3

------------------------

नोट: चार वाटर प्वाइंट की मशीनें लगी हुई हैं।

ये है वाटर प्वाइंट की रेट है

पानी की मात्रा अपना पात्र वाटर प्वाइंट का पात्र

300 एमएल एक रुपये दो रुपये

500 एमएल तीन रुपये पांच रुपये

एक ली। पांच रुपये आठ रुपये

दो ली। आठ रुपये 12 रुपये

पांच ली। 20 रुपये 25 रुपये

---------------------------------

बिना ऑपरेटर के संचालित हो रही लिफ्ट

कैंट स्टेशन पर तीन लिफ्ट हैं, लेकिन इनका संचालन बिना ऑपरेटर के ही किया जा रहा है। बड़ा सवाल ये हैं कि ऐसे में कोई पैसेजर्स इसमें फंस जाए, तो इसका कौन जिम्मेदार होगा।

स्टेशन पर आईआरसीटीसी के ओर से वाटर एटीम हैं। वाटर प्वाइंट लगे हुए हैं। पानी का ठंडा होने में टाइम लगता है। सभी मशीनें काम कर रही हैं। डीआरएम साहब के नेतृत्व में हर कार्य और पैसेजर्स सुविधा से जुड़ी सेवाओं की लगातार मॉनीटरिंग की जाती है। निरीक्षण में कमियों को दूर किया जाएगा।

एसके श्रीवास्तव डीसीएम रेलवे आगरा मंडल