- नर्सिग होम्स को डेंगू के मरीजों की डिटेल देने के आदेश

- केवल एसआरएन की मान्य होगी जांच, प्राइवेट को किया अमान्य

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: डेंगू का सीजन आते ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की सांस फूल गई हैं. संक्रामक बीमारी पर लगाम लगाने के लिए विभाग ने शहर के प्राइवेट हॉस्पिटल्स को लेटर भेज दिया है. जिसमें कहा गया है कि अगर कोई संदिग्ध मरीज आता है तो उसकी जांच मेडिकल कॉलेज की लैब में कराई जाए. साथ ही सूचना भी विभाग को दी जाए. ऐसा नही करने पर हॉस्पिटल के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है.

देनी होगी प्रत्येक जानकारी

अगस्त शुरू होते ही डेंगू के मरीज एक-एक करके सामने आने लगते हैं. इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है. अधिकारियों ने बिना देरी किए शहर के प्राइवेट हॉस्पिटल्स को लेटर भेज दिया है. अगर उनके यहां कोई डेंगू का संदिग्ध मरीज भर्ती होगा तो उसका इलाज शुरू करने के साथ स्वास्थ्य विभाग को सूचना देनी होगी. जिससे उसकी जांच एमएलएन मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायलाजी लैब में कराई जा सके. विभाग उस मरीज का पूरा एग्जामिनेशन करेगा. उसके पते पर टीम भेजकर एंटी लार्वा छिड़काव भी कराया जाएगा.

केवल प्लेटलेट्स गिन लेने से नही माना जाएगा डेंगू

स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि संदिग्ध मरीज की जांच केवल सरकारी लैब में कराई जाएगी. प्राइवेट पैथोलाजी की प्लेटलेट्स की जांच कराकर डेंगू मरीज घोषित किया जाना उचित नही होगा. इस जांच को अमान्य कर दिया गया है. जबकि मेडिकल कॉलेज की लैब में डेंगू का एलाइजा टेस्ट किया जाएगा, जिसमें बीमारी की सही जानकारी प्राप्त हो सकेगी. प्लेटलेट्स की गिनती अन्य बीमारियों में भी कम हो सकती है.

अब तक सामने आए तीन मरीज

इस महीने डेंगू के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. पिछले माह तक केवल एक मरीज दर्ज था और इस महीने दो नए मरीज सामने आए हैं. इनमें से एक होलागढ़ तो दूसरा रामनगर का है. ये खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं. वहीं मलेरिया के मरीजों की संख्या भी बढ़कर 118 हो गई है. डॉक्टर्स का कहना है कि बीमारियों को लेकर होशियार रहने में ही भलाई है. मच्छरों से बचने के पूरे इंतजाम कर दोनों बीमारियों से बचा जा सकता है.

किसी भी मरीज को अनदेखा नही किया जाएगा. अगर कोई मरीज प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती है तो उसकी जानकारी हमारे पास भी होनी चाहिए. जिससे उसकी उचित जांच और फालोअप भी प्रॉपर किया जा सके.

केपी द्विवेदी, जिला मलेरिया अधिकारी, इलाहाबाद