App कैशे को क्‍लीन करना

हम में से बहुत सारे लोगों का स्‍मार्टफोन जब स्‍लो चलने लगाता है। तो लोग फोन की कुछ खास ऐप्स में सेव की गई Cache मेमोरी को डिलीट कर देते हैं। सेटिंग्‍स के भीतर ऐप में जाकर किसी खास ऐप की कैशे को डिलीट करने से आपके फोन की परफॉर्मेंस कतई बेहतर नहीं होती, बल्कि जब आप किसी ऐप की कैशे को Clear कर देते हैं, उसका पूरा statics डिलीट हो जाता है। ऐसे में जब आप ऐप को दोबारा खोलते हैं तो वो तमाम छोटे बड़े टूल्‍स और फीचर्स को फिर से लोड करती है। इस कारण आपके फोन की बैट्री पर तो ज्‍यादा लोड पड़ता ही है और फोन की भी परफॉर्मेंस तेज होने की बजाय कुछ समय के लिए स्‍लो हो जाती है। इसलिए रोजमर्रा में यूज होने वाली ऐप्‍स की कैशे बेवजह डिलीट करने के चक्‍कर में न पडें। एक और खास बात जो ऐप काफी दिनों में यूज करने की नौबत आती है, उसे फोन में परमानेंटली नहीं रखना चाहिए, क्‍योंकि वो रोज ही आपके फोन पर बेवजह का लोड डालती रहेगी।

अपने स्‍मार्टफोन में न करें ये 3 काम,वर्ना होगा पड़ेगा परेशान!

गया सेल्‍फी स्टिक का जमाना, लॉन्‍च हुआ ऐसा स्‍मार्टफोन केस, जो ड्रोन बनकर खींचेगा आपकी सेल्‍फी!

टास्‍क किलिंग से क्‍या होगा?

स्‍मार्टफोन यूज करने वाले यूजर्स में ये आदत तो बहुत ही कॉमन है। जी हां हम में से अधिकतर लोग फोन की रीसेंट ऐप में जाकर बैकग्राउंड में चल रहे सभी टास्‍क और ऐप को क्‍लीन (Kill) कर देते हैं। अगर आप ये सोचते हैं कि टास्‍क किलिंग से आपका फोन सुपर फास्‍ट हो जाएगा? तो जनाब यह सिर्फ गलतफहमी है। जब भी हम एंड्राएड फोन के सारे टास्‍क को एक साथ किल कर देते हैं। तो जैसे ही हम उन ऐप्‍स को दोबारा चालू करते हैं तो उन्‍हें दोबारा से लॉन्‍च करने के लिए फोन के प्रोसेसर पर एक्‍स्‍ट्रा लोड पड़ता है। इसलिए प्‍लीज अपने फोन की रनिंग ऐप्‍स को टास्‍क किलर से क्‍लीन न करें। जब एंड्राएड फोन को जरूरत महसूस होगी तो वो ऑटोमेटिक उन्‍हें क्‍लीन कर देगा।

अपने स्‍मार्टफोन में न करें ये 3 काम,वर्ना होगा पड़ेगा परेशान!

 

आपके स्‍मार्टफोन की मेमोरी हो जाएगी 1 TB, बस करना होगा ये काम


क्‍लीयर डेटा करने से बढ़ेगी प्रॉब्‍लम

एंड्राएड स्‍मार्टफोन में किसी भी ऐप की कैशे को क्‍लीन करने के फायदे कम नुकसान के बारे में हमने ऊपर बताया। कुछ लोग अपने फोन की स्‍पीड को रॉकेट जैसा बनाने के लिए सेटिंग्‍स में जाकर अलग अलग ऐप्‍स का इंटर्नल डेटा ही क्‍लीयर कर डालते हैं, लेकिन इसके बाद उन्‍हें परेशान होना पड़ता है। मान लीजिए फोन की मेमोरी में आपका Whatsapp डेटा सबसे अधिक जगह कंज्‍यूम कर रहा है और उस मेमोरी को खाली करने के चक्‍कर में आपने ऐप्‍स में जाकर व्‍हाट्सऐप का डेटा क्‍लीयर कर दिया, तो इसका असर ये होगा कि आपका Whatsapp अकाउंट ही डिलीट हो जाएगा और आपको उसे फिर से बनाना पडे़गा। इसी तरह किसी बैकिंग ऐप या डिजिटल वॉलेट को ऐप डेटा क्‍लीयर करते ही आपका उस ऐप पर मौजूद अकाउंट रिमूव हो जाता है और आपको फिर से अकाउंट लॉगइन करने के लिए बेवजह का लंबा प्रोसेस फॉलो करना पड़ेगा। कुल मिलाकर यह जान लीजिए किसी भी ऐप का डेटा क्‍लीयर करने से वो ऐप नई इंस्‍टॉल की गई ऐप की तरह बिल्‍कुल ब्‍लैंक हो जाती है।

अपने स्‍मार्टफोन में न करें ये 3 काम,वर्ना होगा पड़ेगा परेशान!

 कान में मोबाइल या इयरफोन नहीं, सिर्फ उंगली लगाकर होगी कॉलिंग, ये है तरीका

Technology News inextlive from Technology News Desk