मेरठ में सघन क्षेत्रों में जारी है अवैध निर्माण

शिकायत के बाद कमिश्नर ने दिए जांच के आदेश

Meerut : मेरठ में अवैध निर्माणों की बाढ़ एक बार फिर शुरू हो गई है. शिकायत को संज्ञान में लेकर कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने एमडीए वीसी साहब सिंह को स्थिति स्पष्ट करते और अवैध निर्माण पर रोक लगाने के आदेश दिए हैं.

सघन क्षेत्रों में अवैध निर्माण

हालिया प्रकरण जोन ए क्षेत्र का है. प्राप्त शिकायत में आरोप लगाया गया कि ब्रह्मापुरी क्षेत्र में भगवत चक्की के पास बिना मानचित्र पास कराए अवैध निर्माण कराया जा रहा है. इतना ही नहीं शिकायतकर्ता ने एमडीए के इंजीनियरों की भूमिका पर भी सवालिया निशान लगा दिया. एमडीए वीसी साहब सिंह ने प्रकरण को संज्ञान में लेकर तत्काल कार्रवाई के आदेश दिए हैं तो वहीं सभी जोन प्रभारियों को अवैध निर्माण पर अंकुश लगाने के आदेश दिए हैं.

कैश कॉलेज पर फिर शिकंजा

कॉलेज ऑफ एप्लाइड एजुकेशन एंड हेल्थ साइंसेज (कैश कॉलेज) पर एमडीए ने एक बार फिर शिकंजा कर दिया है. गंगोत्री कॉलोनी निवासी डॉ. अजय कुमार की शिकायत पर शुक्रवार को एमडीए सचिव ने एटीपी गोर्की को शिकायत की जांच के आदेश दिए हैं. शिकायतकर्ता ने मानचित्र के विपरीत कॉलेज के अवैध निर्माण की शिकायत की है. साथ ही एनसीटीई में अवैध कम्प्लीशन सर्टीफिकेट लगाकर मान्यता लेने का आरोप भी शिकायतकर्ता ने कॉलेज प्रबंधन पर लगाया है. हालांकि पूर्व में भी इसी शिकायत की जांच के बाद प्राधिकरण ने कॉलेज संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश जारी किए गए थे. एमडीए की लचर पैरवी से कार्रवाई अंजाम तक नहीं पहुंच पाई थी.

---

सील किया अवैध निर्माण

एडीएम वीसी के निर्देश पर शुक्रवार को जोन बी के जोनल अधिकारी अजय कुमार, नोडल अधिकारी आलोक रंजन ने रुड़की रोड पर स्थित दुल्हैड़ा में बनवारी लाल शर्मा द्वारा कराए जा रहे अवैध निर्माण को फिर सील कर दिया. असल में प्राधिकरण ने इस अवैध निर्माण को जनवरी 2018 में सील किया था. शिकायत की जांच में निकलकर आया कि निर्माणकर्ता चोरी-छिपे अवैध निर्माण कर रहा है. जिसके बाद दोबारा सीलिंग की कार्रवाई कर दी गई.