सड़कों को गड्ढामुक्त करने में फेल विभागों को डीएम की फटकार

डीएम ने बैठक कर परखी जनपद के विकास कार्यो की प्रगति

Meerut . सड़कों को गड्ढामुक्त करने में लापरवाही पर डीएम अनिल ढींगरा ने मंगलवार को बैठक के दौरान नगर निगम और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की जमकर फटकार लगाई. शासन की डेडलाइन याद दिलाते हुए डीएम ने निर्देश दिए कि 15 अक्टूबर से पहले जनपद की सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त करना होगा. उन्होंने गड्ढामुक्त अभियान के दौरान मैटेरियल की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखने के निर्देश विभागों को दिए.

सड़कों के गड्ढे भरें

बचत भवन सभागार में विकास कार्यो की मासिक समीक्षा बैठक में डीएम लोनिवि, सिंचाई, नगर निगम, एमडीए, जिला पंचायत विभाग, मंडी समिति आदि विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे 15 अक्टूबर से पूर्व सभी सड़कों को गड्ढामुक्त कर दें, जिससे कि आवागमन सुचारु हो और लोगों को गड्ढों से होकर न गुजरना पड़े. गौरतलब है कि 15 अक्टूबर तक सभी विभागों को सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के निर्देश प्रदेश के कबीना मंत्री एवं मेरठ के प्रभारी मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने दिए थे. डीएम ने राशन व्यवस्था, स्वास्थ्य दवाओं, खाद-बीज, नहरों में टेल तक पानी व निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्रि्वत कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए.

--------

जियो टैगिंग न होने पर फटकारा

सभी सीएचसी, पीएचसी पर डॉक्टरों की मौजूदगी, नि:शुल्क दवाएं और जांचों को कराने के निर्देश डीएम चिकित्सा विभाग को दिए. पूर्व में हुए पौधारोपण कार्य की समीक्षा के दौरान सहकारिता, विद्युत, सिंचाई, पुलिस, माध्यमिक शिक्षा, पंचायती राज, लोनिवि, नगर निगम आदि विभागों द्वारा अभी तक जियो टैगिंग कार्य पूरा न होने पर डीएम ने अधिकारियों की ज मकर क्लास ली साथ ही निर्देश दिए कि वे 2 दिन में पौधरोपण की जियो टैगिंग कराकर वन विभाग को रिपोर्ट करें. सीडीओ आर्यका अखौरी, डीएफओ अदिति शर्मा, बीएसए सतेन्द्र कुमार, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी अजय चौधरी आदि इस दौरान मौजूद थे.