-मासूमों ने घर से निकलना किया बंद, पार्को में छिपकर बैठ जाते हैं कुत्ते

-शिकायत के बाद पहुंची नगर निगम की टीम कुत्तों को बगैर पकड़े वापस लौटी

<द्गठ्ठद्द>क्चन्क्त्रश्वढ्ढरुरुङ्घ<द्गठ्ठद्दद्गठ्ठस्त्र> :

कुत्तों का आतंक शहर में इस कदर बढ़ गया है कि पॉश कॉलोनी भी सुरक्षित नहीं रह गई हैं. पीलीभीत रोड स्थित महानगर कॉलोनी के उद्यन फेस -1 में ही कुत्तों ने 10 दिन में दर्जन भर बच्चों और उनके पेरेंट्स को नोंच लिया. कुत्तों का आंतक इस कदर है कि लोग अपने बच्चों को घर के बाहर भी नहीं निकलने दे रहे हैं. कॉलोनी के निवासियों ने इसकी शिकायत नगर निगम से भी की, लेकिन टीम पहुंची तो वह खाली हाथ लौट आई. कॉलोनी के लोग के लोगों में खूंखार कुत्तों का खौफ इस कदर है कि अब वह लाठी डंडा लेकर ही घर से निकल रहे हैं.

डिस्ट्रिक्ट में नहीं है एआरवी

कॉलोनी में कुत्तों के काटने के बाद अधिकांश लोग एंटी रैबीज वैक्सीन लगवाने के लिए डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल पहुंच रहे हैं, लेकिन डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में एक माह से एआरवी नहीं हैं. जिससे उन्हें जान बचाने के लिए निजी हॉस्पिटल से एआरवी लगवानी पड़ रही है. कॉलोनी के लोगों का कहना है कि आवारा कुत्तों का आंतक इस कदर बढ़ गया है कि रोड पर निकलते ही कुत्ते नोच ले रहे हैं. कुत्तों ने इस कॉलोनी में रहने वाली मां-बेटी निधि और कशिश, पुष्पा और उनके बेटे, वान्या, सीमा और अशिया आदि सहित कॉलोनी के घरों में काम करने वाली एक महिला को भी नोच लिया.

एयर गन से भगाते हैं कुत्ते

कॉलोनी के लोगों ने खुद को कुत्तों से बचाने और उन्हें भगाने के लिए एयर गन ले रखी हैं. जैसे ही कॉलोनी के लोगों को कुत्ता दिखता है या फिर टहलने निकलते हैं तो एयर गन साथ लेकर चलते हैं.

======

कॉलोनी वासियों का दर्द

घर से निकलते ही कुत्ते ने दौड़ा दिया, कुत्ता रोड किनारे लगी हरियाली में छिपा बैठा था. बचने के लिए चीख पुकार मचाई तब तक कुत्ते ने दोनों पैरों में मांस नोच लिया. डॉक्टर ने पट्टी बांध दी है, अब घर से नहीं निकलती.

अशिया,

---

मकान के सामने पार्क में शाम को खेलने जा रहे थे. तभी कुत्ते ने पीछे से आकर पैर में नोच लिया. अभी दवा चल रही है. अब जब भी घर से बाहर निकलती हूं तो किसी को साथ लेकर और हाथ में पत्थर लेकर निकलती हूं.

वान्या

----

घर से बाहर टहल रही थी तभी एक कुत्ते ने पैर में नोंच लिया. जब तक शोर सुनकर अन्य लोग आए कुत्ता भाग गया. कॉलोनी में करीब आधा दर्जन कुत्तों का आतंक है. लोग अपने घरों से निकलने से पहले हाथ में पत्थर लेकर और ग्रुप बनाकर निकलते हैं.

अर्चना गिरि

-------

सुबह को स्कूल जाने के लिए बेटा घर से बाहर निकला तभी कुत्ते ने उसे नोच लिया. उसके पैर से मांस नोच लिया. कुत्ते का दौड़ाया और नगर निगम में शिकायत भी की. कुत्तों का भय इतना है कि लोग लाठी लेकर घर से निकलते हैं.

पुष्पा

===========

मामले की शिकायत आई थी. जिसके लिए टीम भेजी गई थी. अब टीम से पता करने के बाद ही बता सकता हूं कि वहां पर क्या प्रॉब्लम है.

डॉ. अशोक कुमार, नगर स्वास्थ्य अधिकारी