वाशिंटन (रॉयटर्स)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निजी वकीलों ने 2016 के चुनाव में रूसी दखलंदाजी पर स्पेशल वकील रॉबर्ट मूलर की रिपोर्ट को सार्वजनिक किये जाने से पहले उसकी 10 घंटों तक समीक्षा की थी। दो वकीलों ने शुक्रवार को यह बात कही है। रूडी गिउलियानी, जे सेकुलो और दो अन्य ट्रंप वकीलों ने मंगलवार और बुधवार को अमेरिकी न्याय विभाग में 448 पन्नों की एक रिपोर्ट में यह देखा कि क्या ट्रंप की टीम रूस के साथ संपर्क में थी और क्या ट्रंप ने जांच में बाधा डाली, जिसे जनता के बीच गुरुवार को जारी किया गया। अटॉर्नी जनरल विलियम बर्र ने गुरुवार को कहा कि व्हाइट हाउस के वकील और ट्रंप के पर्सनल वकीलों को तैयार रिपोर्ट की समीक्षा करने की अनुमति दी गई थी।

दो दिनों तक हुई समीक्षा
हालांकि, बर्र ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी कि उन्हें कितनी देर तक रिपोर्ट को एक्सेस अनुमति दी गई थी लेकिन सेकुलो और गिउलियानी ने बताया कि उन्होंने मंगलवार को लगभग शाम 4 बजे से 9 बजे तक और बुधवार को सुबह 10:30 बजे से शाम 3:30 बजे तक रिपोर्ट की समीक्षा की थी। उन्होंने कहा कि जहां रिपोर्ट रखी गई थी, वहां जाने से पहले सुरक्षा कारणों से उनके फोन और कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को जमा करा लिया गया था। गिउलिआनी ने कहा कि समीक्षा ने उन्हें आश्वस्त किया कि रिपोर्ट में कोई गलत बात नहीं है। उन्होंने कहा 'रिपोर्ट ने हमें विश्वास दिलाया कि जो लोग ट्रंप से नफरत करते हैं, वे उनसे नफरत करेंगे, जो लोग उनसे प्यार करते हैं, वह उनसे प्यार करते रहेंगे और बीच के लोगों का व्यवहार सामान्य रहेगा।'

Mission Shakti अंतरिक्ष में चीन की चुनौती का जवाब दे सकेगा भारत, जानें एंटी सैटेलाइट मिसाइल सिस्टम

रिपोर्ट में इन बातों का जिक्र
मूलर की टीम ने अपनी रिपोर्ट में विस्तार से वर्णन किया है कि ट्रंप की टीम ने चुनाव अभियान के दौरान रूस के साथ संपर्क किया था और ट्रंप ने जांच को कैसे बाधित करने की कोशिश की। साथ ही इस बात से इनकार किया कि चुनाव के दौरान ट्रंप ने कोई अपराध किया था या उनके सहयोगियों ने मॉस्को के साथ मिलकर कोई साजिश रची थी। बता दें कि इस रिपोर्ट के बाद अमेरिकी राजनीति में कोहराम मच गया है, विपक्ष महाभियोग पर अड़ गया है।

International News inextlive from World News Desk