कनाडाई प्रधानमंत्री पर भी तीखा हमला बोला
वाशिंगटन (एएफपी)।
अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी को धमकी दी है कि वह 2.5 करोड़ मेक्सिको नागरिकों को उनके देश भेज देंगे। ट्रंप का यह बयान जी-7 देशों के सम्मेलन में कई मुद्दों को लेकर नेताओं के बीच हुई उठापटक के बीच आया है। दरअसल, दुनिया के सात सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देशों के नेताओं के बीच पिछले हफ्ते कनाडा में हुई बैठक पूरी तरह सफल नहीं हो पाई थी। ट्रंप ने सम्मेलन के बाद सर्वसम्मति से जारी किए जा रहे बयान को खारिज करने के साथ ही कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टीन ट्रूडो पर तीखा हमला बोला।

जापान में अप्रवासी की कोई समस्या नहीं

इसके अलावा व्यापार, आतंकवाद और अप्रवासन के मुद्दे पर ट्रंप के रवैये से उनके समकक्ष नाराज रहे। बहस के दौरान ट्रंप ने अप्रवासन को यूरोप की सबसे बड़ी समस्या बताते हुए कहा, 'शिंजो आपके पास ऐसी कोई समस्या नहीं है लेकिन मैं आपके देश में 2.5 करोड़ मेक्सिन नागरिक भेज सकता हूं और आप सत्ता से बेदखल हो जाएंगे। यूरोपीय संघ के एक अधिकारी के मुताबिक, ट्रंप के इस बयान से सम्मेलन में तल्खी का माहौल हो गया था। इसके बाद ट्रंप ने ईरान और आतंकवाद के मुद्दे पर फ्रांसीसी राष्ट्रपति को घेरते हुए कहा, 'मैक्रों, आप इस बात से अच्छी तरह वाकिफ होंगे क्योंकि सारे आंतकवादी पेरिस में ही हैं। इसके अलावा ट्रंप ने यूरोपीय संघ के अध्यक्ष जेन-क्लाउडे जंकर और अन्य नेताओं पर भी जमकर हमला किया।

कनाडा में आयोजित किया गया सम्मेलन

44वां जी-7 शिखर सम्मेलन इस साल 8 और 9 जून को क्यूबेक, कनाडा में आयोजित किया गया। यह 1981 के बाद से छठी बार ऐसा था जब कनाडा ने बैठक की मेजबानी की। बता दें कि इटली के प्रधान मंत्री ज्यूसेपे कॉन्टे के लिए यह पहला शिखर सम्मेलन था। इस सम्मेलन में मौजूद सभी देशों के शीर्ष नेताओं ने अपनी बात रखी और उसपर सर्वसम्मति से चर्चा किया।

ट्रंप और किम की तरह खास थी उन्हें परोसे गए पकवानों की सूची

ट्रंप और किम को दोस्‍त बनाने में भारतीय मूल के इन दो मंत्रियों ने निभाई बड़ी भूमिका!

International News inextlive from World News Desk