- डोर-टू-डोर की हर गाड़ी में बजेगा गाना, जिससे लोगों को पता चले कि गाड़ी आ गई.

- नगर आयुक्त ने खुद लिखे है गाने के लिरिक्स

BAREILLY: नगर निगम ने शहर में सफाई और लोगों को अवेयर करने का एक नया तरीका निकाला है. अब गाना बजाकर शहर में सफाई व्यवस्था को ठीक किया जाएगा. इसके लिए नगर आयुक्त ने खुद एक गाने के लिरिक्स लिखें है, जिसे वो शहर में डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने वाली गाडि़यों में बजाया जाएगा, जिसे सुनकर लोगों को अपने घर में से ही बैठकर पता चल सके कि नगर निगम का सफाईकर्मी आ गया है.

गाने से लोगों को नहीं होगा कंफ्यूजन

गाडि़यों में गाना बजाकर कूड़ा उठाने की सुविधा मेन डोर टू डोर काम करने वाली एजेंसियों के पास ही होगी. शहर के चारों जोन में डोर-टू-डोर काम करने वाली सभी गाडि़यों में यह गाना लगातार बजता रहेगा. जिससे लोगों को पता चल सके कि उनकी गली में कूड़ा उठाने वाला आ गया है. ताकि लोगों में कूड़े उठाने वाले को लेकर कोई कन्फ्यूजन न हो और वो आसानी से इस सुविधा का लाभ उठा सके.

ये गाने के लिरिक्स

जन सेवा ही सेवा है, जन सेवा ही सेवा है.. होती है हर बड़े काम की घर से ही शुरुआत,

कुछ भी मुश्किल नहीं है, मिले सभी का साथ. हम नाथ के नगरिया के वासी बरेली चमका देंगे.

80 गाडि़यों को और बढ़ाया गया

अभी तक शहर में कूड़ा उठाने के लिए 166 गाडि़यां हैं, जो शहर का कूड़ा उठाकर सफाई का काम करती है, लेकिन यह गाडि़यां डोर टू डोर वालों के लिए नहीं थी. लेकिन नगर आयुक्त के आदेश पर अब शहर के हर वार्ड के लिए एक-एक गाड़ी और मंगा कर दी है. मतलब कुल 80 गाडि़यों को नगर निगम ने परचेज किया है. जिसमें से अभी तक 35 गाडि़यां पहुंच चुकी है. बाकी की 50 गाडि़यां जल्द ही नगर निगम में आ जाएंगी.

लगाया जाएगा म्यूजिक सिस्टम

नगर आयुक्त ने बताया कि नगर निगम में डोर टू डोर के लिए 80 वाहनों को खरीदा जा रहा है. जिनमें सभी में एक स्पीकर के साथ म्यूजिक सिस्टम लगाया जाएगा. इस बात पर भी जोर दिया जा रहा है कि इन गाडि़यों में म्यूजिक सिस्टम नगर निगम ही लगाकर दे. इसलिए नगर निगम ही इन गाडि़यों में स्पीकर लगाकर देगा. साथ ही बताया कि जिन गाडि़यों में पहले से म्यूजिक सिस्टम है उनमें भी एक स्पीकर लगा लिया जाए.

यह गाना मैंने खुद लिखा है और यह शहर में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के लिए लगाई गई नगर निगम की गाडि़यों में यह गाना हमेशा बजता रहेगा. जिससे लोगों में अवेयरनेस पैदा हो.

राजेश श्रीवास्तव, नगर आयुक्त