2साल का कोर्स होगा 9 से 11 महीने में होगा पूरा

टीबी विभाग ने तैयार की योजना, मरीजों को मिलेगा लाभ

Meerut. एमडीआर टीबी यानि मल्टी ड्रग रजिस्टेंस टीबी की स्टेज से गुजर मरीजों के लिए अच्छी खबर हैं. ऐसे मरीजों को लंबे इलाज से मुक्ति दिलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने योजना तैयार कर ली है. योजना के तहत शासन ने एमडीआर मरीजों के लिए दो साल के कोर्स की अवधि घटाकर 11 महीने तक की कर दी है.

नए मरीजों को होगा लाभ

शासन की ओर से तैयार यह योजना अभी कुछ ही जिलों में लागू की गई हैं. लेकिन इसके बेहतर परिणामों को देखते हुए सितंबर तक मेरठ में भी इसकी शुरुआत कर दी जाएगी. हालांकि इस योजना का लाभ सिर्फ नए मरीजों को ही होगा. पुराने कोर्स के मरीजों को फिलहाल दो साल का ही कोर्स करना होगा. मेरठ में करीब 4154 टीबी मरीज हैं. जबकि 281 मरीज एमडीआर टीबी के हैं. इसके तहत मरीजों की स्थिति और गंभीरता के आधार पर 9 से 11 महीने तक का कोर्स करवाया जाएगा. हालांकि इस कोर्स के तहत दवाई की खुराक में इजाफा होगा.

चुनिंदा मरीजों पर होगा प्रयोग

एमडीआर मरीजों के लिए शुरु की जा रही इस योजना का प्रयोग चुनिंदा किस्मों के मरीजों पर नहीं किया जा सकेगा. चूंकि इसमें दवाइयों की डोज अधिक होगी इसलिए गर्भवती महिलाओं, 18 साल से कम आयु के मरीज, हार्ट डिजीज व ओरल हार्मोनल दवाइयों का प्रयोग करने वाली महिलाओं को इस कोर्स का फायदा नहीं मिल सकेगा. विभाग के अधिकारियों के मुताबिक कोर्स की गाइडलाइन के अनुसार हर किसी को इस कोर्स का फायदा नहीं दिया जा सकता है. खासतौर से दिल के मरीजों के लिए यह शार्ट टर्म कोर्स नुकसानदायक साबित हो सकता है.

एमडीआर मरीजों के लिए जिले में जल्द ही शार्ट टर्म कोर्स की शुरुआत की जा रही है. इससे मरीजों को लंबा इलाज करवाने से मुक्ति मिलेगी.

डॉ. एम.एस फौजदार, जिला टीबी अधिकारी, मेरठ