न्याय नगर दुर्गा पूजा पार्क में सामने आयी सनसनीखेज वारदात

तमंचा और कारतूस स्पॉट से काफी दूर मिलने से घटना पर उठे सवाल

allahabad@inext.co.in

न्याय नगर स्थित दुर्गा पूजा पार्क गुरुवार की शाम गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा. खामोशी हुई तो एक युवक और एक युवती मृत पड़े थे. युवती के साथ गयी उसकी मां का कहना है कि लड़के ने बेटी को गोली मारने के बाद खुद को गोली मार ली है. जबकि स्पॉट पर मिले एडीवेंट कुछ और ही कहानी कह रहे थे. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे एसएसपी नितिन तिवारी ने प्रथम दृष्टया इसे पे्रम प्रपंच का मामला माना लेकिन यह भी कहा कि निष्पक्ष जांच होगी.

साथ निकली थीं मां-बेटी

मृतका का नाम वंशिका सोनी पुत्री रमेश चंद्र सोनी था. उम्र करीब 22 साल के आसपास थी. उसकी एक बहन रागिनी और दो भाई हैं. उसकी मां का नाम उर्मिला सोनी है. फिलहाल पूरा परिवार सहसों में अपने मामा लवकुश के साथ रहता है. बताया जाता है कि बच्चों को लेकर बाप से बनी नहीं तो उर्मिला बच्चों के साथ अपने मायके आ गयी. उर्मिला के अनुसार गुरुवार की दोपहर वह वंशिका के साथ शहर आयी थी. उसे मेडिकल चौराहे पर प्रैक्टिस करने वाली डॉ. रेखा श्रीवास्तव को दिखाना था. डॉक्टर को दिखाने के बाद दोनों झूंसी चली गयीं.

मौत खींच ले गयी थी पार्क तक

न्याय नगर में वंशिका के मौसा ओम प्रकाश सोनी का घर है. झूंसी में उतरने के बाद उन्होंने पार्लर में थ्रेडिंग करायी और फिर दर्जी की दुकान पर काम से पहुंचीं. संयोग से दुकान बंद थी. इसके बाद मां-बेटी ओम प्रकाश सोनी के घर पहुंचे. संयोग से यहां भी ताला बंद मिला तो शाम चार बजे के करीब दोनों न्याय नगर में स्थित दुर्गा पूजा पार्क पहुंच गयीं. उर्मिला के अनुसार यहां थोड़ा वक्त बिताकर माता रानी का दर्शन करना चाहते थे. इसके बाद वे घर लौट जाते. पार्क में पहुंचना उनके लिए काल बन गया.

दो तमंचा लेकर पहुंचा था युवक

उर्मिला का कहना है कि वंशिका को मौत के घाट उतारने वाला शेरडीह रहिमापुर का रहने वाला विजय यादव अपने साथ दो तमंचा लेकर पहुंचा था. पार्क में घुसते ही उसने वंशिका को निशाना बनाया और फायर कर दिया. वंशिका जान बचाने के लिए भागी तो उसने दूसरा फायर झोंक दिया. निशाना वंशिका का सिर था तो मांस का लोथड़ा दो स्थानों पर गिरा मिला. दो गोलियां खाकर उसकी सासें थम गयी. इसके बाद युवक ने खुद को गोली मार ली. चंद मिनट के भीतर ही उसने भी दम तोड़ दिया. गोलियों की आवाज सुनकर आसपास के लोग जुटे तो भीतर का सीन देखकर सन्नाटे में आ गयी. उर्मिला बिलख रही थी. सूचना मिलते ही झूंसी पुलिस मौके पर पहुंची. देर शाम एसएसपी नितिन तिवारी भी पहुंच गये. पुलिस ने पहचान हो जाने के बाद बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

असलहा-गोलियां में फासला कैसे

स्पॉट पर सीन और उर्मिला का बयान कई बार मिस मैच कर रहा था. पार्क में शाम के वक्त कोई नहीं था.

बगैर किसी जान-पहचान या बातचीत के युवक ने युवती को टारगेट क्यों किया

मां साथ ही पार्क में गयी थी तो उसने विरोध क्यों नहीं किया?

12 बोर का तमंचा बॉडी के पास था तो खाली गोलियां आठ फिट दूर कैसे पहुंच गयीं

पिस्टल आठ फिट दूर थी तो इसकी गोलियां 30-32 फिट दूर कैसे पहुंच गयीं

लड़के ने आते ही फायर झोंक दिया था तो स्पॉट के अलावा किसी अन्य स्थान पर ब्लड स्पॉट क्यों नहीं था

पिस्टल की मैगजीन स्पॉट पर थी तो असलहा दूर कैसे पहुंच गया

दोनो की बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजवा दिया गया है. दोनो परिवारों से बात करके साक्ष्य जुटाने में पुलिस लगी है. पूरी जांच की जाएगी और जो भी तथ्य सामने आएगा, उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.

नितिन तिवारी

एसएसपी, इलाहाबाद