- ऊधमसिंह नगर में युवक की नदी में डूबकर मौत

- पौड़ी में फटा बादल, कलणू गांव में चार घर क्षतिग्रस्त

- बदरीनाथ हाईवे का 30 मीटर हिस्सा बरसाती नाले में बहा

---------------------

देहरादून : उत्तराखंड में मानसूनी बारिश का कहर जारी है. रविवार को ऊधमसिंह नगर में एक युवक की नदी में डूबकर मौत हो गई. पौड़ी जिले के दूरस्थ क्षेत्र में बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है. नदी के उफान से कलुण गांव में चार घर क्षतिग्रस्त हुए हैं. यहां 6 मवेशियों के बहने की भी सूचना है. बदरीनाथ के पास लामबगड़ में नाले में आए उफान से हाईवे का 30 मीटर हिस्सा बह गया है. चार दिन से यहां यातायात ठप है. इसके अलावा जोशीमठ-मलारी के बीच हाईवे पर आए मलबे को हटाने का काम जारी है.

कैंपटी फॉल से खौफ में व्यापारी

मसूरी के निकट कैंपटी फॉल ने रविवार को एक बार फिर विकराल रूप धारण कर लिया. बारिश के चलते कैंपटी फॉल का बहाव काफी बढ़ गया, जिसके चलते इलाके के व्यापारियों में अफरा-तफरी देखने को मिली. करीब दो घंटे बाद हालात सामान्य हुए तो आसपास के दुकानदारों ने राहत की सांस ली.

राज्य की 80 सड़कें बंद

भारी बारिश का सबसे ज्यादा असर सड़कों पर दिख रहा है. बारिश के चलते भू स्खलन के कारण प्रदेश की 80 सड़कें बंद हैं. यमुनोत्री धाम के पास डाबरकोट में पत्थरों के गिरने का क्रम जारी है. चमोली जिले में शनिवार रात भारी बारिश के बीच घाट तहसील में स्थानीय बरसाती नदी का जलस्तर बढ़ने से आधा दर्जन मकानों को खतरा पैदा हो गया है.

उत्तरकाशी में 16 परिवार किए शिफ्ट

उत्तरकाशी में वरुणावत पर्वत पर लगातार भूस्खलन हो रहा है. इसे देखते हुए 16 परिवारों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है. टिहरी जिले के कोट गांव में अब भी लोग दहशत में हैं. पिछले दिनों यहां मकान ढहने से दो परिवारों के सात लोगों की मौत हो गई थी.

युवक नदी में डूबा, मौत

कुमाऊं में भी बारिश का कहर जारी है. सुबह से दोपहर तक बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. ऊधमसिंह नगर जिले के खटीमा में दौड़ लगाने गया युवक पैर फिसलने से कामन नदी में डूब गया. बताया जा रहा है कि वह अ‌र्द्धसैनिक बल में भर्ती के लिए तैयारी कर रहा था.