- देर शाम तक घर नहीं पहुंचने पर तलाश करते हुए परिजन पहुंचे स्कूल

- क्लास रूम अंदर से बंद था और टीचर के पास से मिला एक सुसाइड नोट

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: गोमती नगर के विभूतिखंड स्थित स्कूल की क्लास रूम में ड्राइंग टीचर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. देर शाम तक टीचर घर नहीं पहुंचा तो परिजनों उसकी तलाश में स्कूल पहुंचे. मोबाइल फोन स्विच ऑफ और स्कूल गेट पर स्कूटी खड़ी देकर परिजनों ने स्कूल खुलवाया तो क्लास रूम में उसका शव फंदे से लटकता मिला. परिजनों ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल में टीचर के पास से एक सुसाइड नोट बरामद किया.

क्लास रूम का अंदर से बंद था दरवाजा
बाजार खाला के ऐशबाग राम नगर निवासी शिव बालक का बेटा हिमांशु मूर्ति (30) गोमती नगर के विनीत खंड स्थित भारतीय विद्या भवन पब्लिक स्कूल में ड्राइंग सब्जेक्ट का टीचर था. हिमांशु रोज की तरह शनिवार सुबह स्कूल जाने के लिए घर से अपनी स्कूटी लेकर निकला था. देर शाम तक वह घर नहीं पहुंचा तो परिजन परेशान हो गए. उसका लगातार फोन मिलाया गया लेकिन फोन स्विच ऑफ था. परिवार में पिता, मां और एक बहन है. परिवार के लोग उसे तलाशते हुए स्कूल पहुंचे. स्कूल गेट में उसकी स्कूटी खड़ी देखी गई. स्कूल कैंपल खुलवा कर चेक किया गया तो एक क्लास रूम का दरवाजा अंदर से बंद था. इसकी सूचना गोमती नगर पुलिस को दी गई. मौके पर पहुंची गोमती नगर पुलिस ने दरवाजा खुलवाया तो अंदर हिमांशु फांसी के फंदे पर लटकता मिला.

टीचर के पास मिला सुसाइड नोट
गोमती नगर पुलिस ने जांच पड़ताल शुरु की और डेडबॉडी को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा. पुलिस को उसके पास से एक सुसाइड नोट मिला. जिसमें उसने अपने दोस्त रूपल और सचिन के लिए लिखा कि मेरे दोस्तों को सुसाइड की जानकारी दे दी जाए. साथ ही उसने परिवार वालों के लिखा कि उसकी मौत के पीछे किसी को भी जिम्मेदार न ठहराया जाए. उसके आत्महत्या के पीछे क्या कारण है, इसकी पुलिस जांच पड़ताल कर रही है. दूसरी तरफ चर्चा है कि टीचर ने आत्महत्या प्रेम प्रसंग के चलते की है.