-दुबई से लौटकर आया था मरीज, केजीएमयू में इलाज के दौरान हुई मौत

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: केजीएमयू में गुरुवार को स्वाइन फ्लू से पीडि़त मोहम्मद आतिफ (25) की मौत हो गई. लखीमपुर निवासी मोहम्मद आतिफ दुबई में काम करता था और 12 दिन पहले बुखार और सांस की शिकायत के बाद उसे केजीएमयू के लॉरी कार्डियोलॉजीमें लाया गया था. इस वर्ष प्रदेश में स्वाइन फ्लू से होने वाली यह पहली मौत है. राजधानी में अब तक आठ मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है.

कार्डियोलॉजी में हुआ था भर्ती

केजीएमयू के डॉ. संतोष कुमार ने बताया कि लॉरी में मरीज में हाइपर ट्रॉफिक आब्सट्रक्टिव कार्डियो मायोपैथी और निमोनिया के लक्षण पाए गए. उसे मेडिसिन रिफरेंस के लिए भेजा गया. स्वाइन फ्लू की आशंका होने पर एच1 एन1 जांच कराई गई, तो उसे स्वाइन फ्लू होने की बात सामने आई. मरीज सैंपल देकर सहारा चला गया था. वहां भी स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई.

फिर भेजा केजीएमयू

केजीएमयू के अधिकारियों के अनुसार सहारा वालों ने स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने पर मरीज को दोबारा केजीएमयू रेफर किया. जहां सोमवार को डॉ. केके गुप्ता की अधीन उसे भर्ती किया गया. मरीज का बीपी काफी कम था और उसे सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी, इसलिए उसे वेंटीलेटर पर रखा गया लेकिन उसकी जान नहीं बचाई जा सकी. गुरुवार सुबह उसकी मौत हो गई.

बाक्स

दुबई में हुआ संक्रमण

केजीएमयू के मीडिया प्रभारी डॉ. संतोष कुमार के अनुसार मरीज को बुखार आने के लक्षण दुबई में ही दिखने लगे थे. आशंका है कि उसे स्वाइन फ्लू का संक्रमण वहीं हुआ है. केजीएमयू में इस वर्ष स्वाइन फ्लू का एच1एन1 पॉजिटिव का यह पहला केस है. मरीज के संपर्क में रह रहे व्यक्तियों को अगर जुखाम, बुखार के लक्षण दिखें तो वह तुरंत अपनी जांच कराए. हमारे यहां दवाएं उपलब्ध हैं.