Jamshedpur: दुर्गा पूजा के दौरान शहर की सुरक्षा व्यवस्था बहुत कड़ी होगी. शहर के भीड़-भाड़ वाले इलाकों में ड्रोन से निगरानी की जाएगी. हर पूजा पंडाल में सीसीटीवी कैमरे लगाने और इनकी रिकॉर्डिग का प्रसारण पंडाल में अंदर व बाहर करने का निर्देश पूजा समितियों को दिया गया है. यही नहीं, समितियों को सख्त हिदायत दी गई है कि वे पंडालों में मूर्तियों की देखरेख के लिए शिफ्ट वार गार्ड तैनात करें. शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिले को छह सुपर जोन व 25 जोन में बांटा है. विधि व्यवस्था में तैनात अधिकारियों को सख्त हिदायत दी गई है कि पंडालों के आसपास किसी तरह की लाटरी या जुआ नहीं हो. ध्यान रखें, पंडालों में अवैध बिजली कनेक्शन नहीं हो. पंडालों के आसपास अड्डेबाजों पर निगाह रखें. पूजा समितियों को कई निर्देश दिए गए हैं. संबंधित अधिकारी इस बात का ख्याल रखें कि रात 10.30 के बाद तेज आवाज में साउंड न बजे. यातायात व्यवस्था का पालन हो और वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था हो. साथ ही मुख्य पूजा पंडालों में वाच टावर की व्यवस्था की जाए.

पूजा समितियों के लिए निर्देश

--दुर्गा पूजा समिति पंडालों के अंदर व बाहर पर्याप्त संख्या में सीसीटीवी कैमरे लगाएं ताकि सारा क्षेत्र कैमरे की जद में आ जाए.

-- पंडालों के अंदर व बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिग को पंडाल में दिखाया जाए. रिकार्डिग की सीडी संबंधित अधिकारियों को भी दी जाएगी.

--दुर्गापूजा समितियां जुस्को व बिजली विभाग से नियमानुसार बिजली कनेक्शन लें.

--समितियों को जुस्को व बिजली विभाग से सुरक्षित बिजली संयोजन का प्रमाण पत्र भी हासिल करना होगा.

--दुर्गापूजा समितियों द्वारा यह सुनिश्चित किया जाए कि पंडाल खुला हो और किसी भी हालत में यह गुफानुमा नहीं हो.

--दुर्गापूजा समिति द्वारा आग से बचने के लिए पर्याप्त उपाय करने होंगे और इस संबंध में अग्निशमन केंद्र से प्रमाण पत्र हासिल करना होगा.

--दुर्गा पूजा समितियों के लिए प्रतिमा की देखरेख के लिए 24 घंटे स्वयं सेवकों की तैनाती पंडाल में की जाएगी.

--दुर्गा पूजा समितियां प्रतिमा की देखरेख के लिए कई स्वयं सेवकों की तैनाती करें और उनकी ड्यूटी शिफ्टवार लगाएं.

--दुर्गा पूजा समितियां द्वारा प्रतिमा की देखरेख के लिए तैनात स्वयं सेवकों की सूची सुपर जोनल व जोनल मजिस्ट्रेट को उपलब्ध कराएं.

--समितियों द्वारा स्वयं सेवकों को पहचान पत्र दिया जाएगा ताकि उनकी पहचान निर्धारित हो.

--दुर्गा पूजा समितियों द्वारा पंडाल में भीड़ नियंत्रण और पंडाल के बाहर यातायात व्यवस्थित करने के लिए पर्याप्त संख्या में स्वयं सेवकों की प्रतिनियुक्ति की जाएं.

--दुर्गापूजा समिति द्वारा पंडाल के प्रवेश व निकास द्वारा अलग-अलग बनाए जाएं.

--पंडाल में जाने और बाहर निकलने के लिए महिलाओं और पुरुषों की अलग-अलग कतार लगवाई जाए.

--पंडालों में श्रद्धालुओं के लिए पेयजल की व्यवस्था हो.

--पूजा पंडालों के अंदर व बाहर पर्याप्त संख्या में डस्टबिन रखनी होंगी ताकि आसपास वातावरण साफ-सुथरा रहे.