क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: रांची जिले में दुर्गा पूजा को लेकर जितने भी पंडाल बनाए गए हैं उनकी सुरक्षात्मक दृष्टि से जिला प्रशासन की टीम द्वारा जांच कराई जाएगी. शहर में जितने भी पंडाल हैं उनमें फ ायर फ ाइटिंग सिस्टम, बालू, पानी और पंडालों के आसपास साफ -सफ ाई की व्यवस्था की जांच जिला प्रशासन द्वारा प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों द्वारा की जाएगी. इसके लिए रांची एसडीओ द्वारा चार पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति दंडाधिकारी के रूप में की गई है. इन पदाधिकारियों द्वारा शहर के सभी पंडालों में फि जिकल वेरीफि केशन किया जाएगा. इस दौरान देखा जाएगा कि पंडालों में क्या-क्या व्यवस्थाएं हैं. क्या-क्या कमियां हैं जिसे दूर किया जा सकता है.

प्रशासन ने तय किया मापदंड

शहर में जितने भी पंडाल हैं उनमें क्या व्यवस्था होनी चाहिए इसको लेकर रांची सिविल एसडीओ ने मापदंड भी तय किया है. इसके तहत जो प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी हैं वो पंडालों में जाकर फ ायर फ ाइटिंग की क्या व्यवस्था है, पंडालों के बगल में बालू की क्या व्यवस्था है, पंडाल में पानी की क्या व्यवस्था है इसकी जांच करेंगे. साथ ही जांच कर रिपोर्ट भी बनाई जाएगी. यह रिपोर्ट एसडीओ को दी जाएगी अगर किसी पंडाल में इन व्यवस्थाओं का अभाव होगा तो व्यवस्थाएं पूरी की जाएंगी.

.......

चार पदाधिकारियों को बांटा थाना क्षेत्र

-सागर कुमार, कार्यपालक दंडाधिकारी-सदर, लालपुर, हिंदपीढ़ी, डेली मार्केट, लोअर बाजार और चुटिया इलाके में पड़ने वाले पंडालों की जांच करेंगे.

-रवी शंकर, कार्यपालक दंडाधिकारी-सदर, कोतवाली, सुखदेव नगर, गोंदा, अरगोड़ा इलाके में पडने वाले पंडालों की जांच करेंगे.

-एनी रिंकू कुजूर, कार्यपालक दंडाधिकारी-सदर, बरियातू, बीआईटी मेसरा, खेलगांव के तहत आने वाले पंडालों की जांच करेंगे.

-श्वेता वर्मा, कार्यपालक अधिकारी-सदर, डोरंडा, जगन्नाथपुर थाना के अंतर्गत आने वाले पंडालों की जांच करेंगे. इसके अलावा शहर, हेहल, अरगोड़ा, बड़गाई अंचल में पड़ने वाले पंडालों की जांच सीओ करेंगे.