क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: बकरी बाजार में पीछे की ओर एक अतिरिक्त निकास द्वार बनवाया जाए. साथ ही ट्रैफिक व्यवस्था बनाए रखने, जाम से छुटकारा के लिए सिटी में बड़े वाहनों के प्रवेश पर रोक, आठ दिनों तक निर्बाध बिजली-पानी की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए. यह अपील श्री महावीर मंडल रांची के अध्यक्ष जयसिंह यादव ने जिला प्रशासन से की है. शनिवार को वह डीसी ऑफिस में पूजा को लेकर जिला प्रशासन व पूजा समितियों की बैठक में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि पूजा के दौरान बकरी बाजार में दो-तीन लाख श्रद्धालु आते हैं. ऐसे में एक ही प्रवेश व निकास द्वार होने से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है. बैठक में कांके विधायक डॉ. जीतू चरण राम, उपायुक्त राय महिमापत रे के अलावा वरीय पुलिस पदाधिकारी, सिटी एसपी, अनुमंडलाधिकारी, एडीएम (लॉ एण्ड ऑर्डर), जिला नजारत उप समाहर्ता सहित कई पदाधिकारी एवं महानगर दुर्गापूजा समिति समेत रांची जिला दुर्गा पूजा समिति के सदस्य मौजूद थे.

छोटी-छोटी बातों का भी रखें ख्याल

कांके विधायक डॉ. जीतू चरण राम ने कहा कि पुलिस प्रशासन अपने स्तर से सफ ल आयोजन की सभी तैयारियां कर रहा है. लेकिन पूजा समिति के सदस्यों को भी हर छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना जरूरी है. क्योंकि कई बार छोटी गलती ही बड़े हादसे का कारण बन जाती है. उन्होंने सदस्यों से अपील की कि पंडाल में आने वाले सभी श्रद्धालुओं को सम्मान मिले. पूजा आरंभ से विसर्जन तक पूरी मुस्तैदी से सभी को अपनी जवाबदेही निभाने की जरूरत है ताकि लोगों के बीच अच्छा संदेश जाए.

असामाजिक तत्वों से बचना होगा

महानगर दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष रामधन वर्मन ने बताया कि रांची शहरी क्षेत्र में 151 व रूरल एरिया में 154 पूजा पण्डालों को महानगर दुर्गापूजा समिति द्वारा लिस्टिंग किया गया है. कोशिश है कि कोई भी पण्डाल सड़क पर नहीं बनाया जाए. उन्होने पण्डालों में सिर्फ भजन, कीर्तन के अलावा खोया-पाया या अन्य महत्वूपर्ण उद्घोषणाओं की भी बातें कही हैं. उन्होने प्रशासन को आश्वस्त किया कि 20 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से विसर्जन शोभा यात्रा प्रारंभ होगी और अंधेरा होने तक प्रतिमाओं का विसर्जन कर लिया जाएगा. उन्होंने प्रशासन द्वारा बनाये जाने वाले ड्रॉप गेट पर पदाधिकारियों को थोड़ा सख्त रहने का भी अनुरोध किया ताकि असामाजिक तत्व गलत न कर सकें.

विसर्जन रास्ते के गड्ढों को भरना होगा

बैठक में सदस्यों ने बड़ा तालाब में समुचित पानी एवं बिजली व्यवस्था करने और विसर्जन के रास्ते में आने वाले गढ्डों को भरने का काम जल्द पूरा करने का अनुरोध किया ताकि विसर्जन में कहीं कोई परेशानी न हो. इसके अलावा हर पंडाल के बाहर पेयजल के लिए टैंकर,साफ-सफाई हेतु नगर निगम के कर्मचारियों की प्रतिनियुक्ति, सभी पण्डालों को पूजा आयोजन हेतु प्रशासन द्वारा लाइसेंस जारी करने, मोबाइल टॉयलेट आदि की व्यवस्था करने की मांगें रखी गई. शान्ति समिति की बैठक में सर्वधर्म सद्भावना समिति के अध्यक्ष मो. इस्लाम ने पूजा के दौरान अफवाहों पर रोक लगाने के लिए सोशल-मीडिया पर खास नजर रखने, भीड़ में छिनतई आदि की घटनाओं को रोकने हेतु पुलिस से विशेष व्यवस्था करने का अनुरोध किया है.