- जिला निर्वाचन कार्यालय की तरफ से गोरखपुर सदर व बांसगांव सीट पर तैनात होंगी सखियां

GORAKHPUR: अगर आप अपने वोटिंग राइट्स का इस्तेमाल करने पोलिंग बूथ पर जा रहे हैं और फीमेल स्टाफ दिखें तो चौंकिएगा मत। क्योंकि नारी शक्ति को बढ़ावा देने के लिए गोरखपुर की दो लोकसभा सीटों पर सखी बूथ बनाए जाने की कवायद की जा रही है। इसको लेकर जिला निर्वाचन अधिकारियों ने पूरी तैयारी कर ली है। फीमेल मतदान कर्मियों को ट्रेनिंग भी कराई जा रही है। इन बूथों पर सिक्योरिटी फोर्स से लेकर पीठासीन अधिकारी व अन्य स्टाफ भी महिलाओं का होगा। लेकिन इन बूथों पर कोई भी वोट डाल सकेगा।

22 से होगा नॉमिनेशन

बता दें, 22 अप्रैल से लोकसभा चुनाव के लिए नॉमिनेशन प्रोसेज स्टार्ट हो जाएगा। वहीं जिला निर्वाचन कार्यालय की तरफ से तैयारियां भी जोर शोर से चल रही हैं। इन्हीं तैयारियों के क्रम में पोलिंग पार्टियों के साथ ही सखी बूथों के लिए लेडी स्टाफ को एक दिन पहले रवाना किया जाएगा। ऐसे में लेडी स्टाफ के रुकने के लिए बूथों में अच्छी व्यवस्था है कि नहीं इसकी पूरी पड़ताल की जा रही है। उन बूथों को ही सखी बूथ बनाया गया है जहां लेडी स्टाफ को एक रात रुकने में किसी भी प्रकार की कोई प्रॉब्लम न हो।

बूथों को किया जाएगा प्वॉइंट आउट

उप जिला निर्वाचन अधिकारी आरके श्रीवास्तव ने बताया कि गोरखपुर के दो संसदीय क्षेत्र की दो सीटों पर सखी बूथ बनाया जाएगा। एआरओ द्वारा बूथों को प्वॉइंट किया जाएगा। इसके लिए लेडी स्टाफ को अलग से ट्रेनिंग दी जा रही है। सभी महिला कर्मियों को बूथ भी दिखा दिए गए हैं। लेकिन उन्हें ड्यूटी किस बूथ में करनी है यह नहीं बताया गया है।