यह जानना जरूरी

-4 महीने पहले लागू हुई थी ई-चालान की व्यवस्था

-13,521 ई-चालान अब तक हुए

-40 लाख रुपए ई-चालान से मिला रेवेन्यू

-1 करोड़ रुपए की वसूली पेंडिंग

-5 से 10 शिकायतें डेली आती हैं

- ई-चालान होने के बाद मोबाइल में मैसेज न आने से लोग परेशान

- फरवरी में लागू हुई थी ई-चालान की व्यवस्था, हर माह बढ़ रही चालान की संख्या

बरेली : ई-चालान व्यवस्था बरेली में फरवरी 2019 में लागू हो गई थी, लेकिन योजना शुरू होने के लगभग चार माह बाद भी बरेलियंस को इसकी जानकारी नहीं है। ई-चालान होने के बाद वाहन चालक के मोबाइल में मैसेज न पहुंचने से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों के चालान तो कट रहे हैं, लेकिन मोबाइल पर मैसेज नहीं पहुंच रहे हैं। ऐसे में जब वह वाहनों की फिटनेस और डीएल के रीन्यूवल के लिए आरटीओ जाते हैं तो तब उनको जानकारी होती है कि उनका चालान हुआ है। इसके बाद उन्हें पेनाल्टी के साथ फाइन भरना पड़ रहा है।

यह हो रही दिक्कत

शहर के प्रमुख चौराहों पर लगातार चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। इसमें लोगों को रोककर ई-चालान किया जा रहा है। कई बार तो पांच से दस मिनट बाद ही मैसेज लोगों के मोबाइल पर आ जा रहा हैं, लेकिन कई बार एक महीने के बाद भी मैसेज नहीं पहुंच रहा है। जिससे लोग बेफिक्र हो जा रहे हैं, लेकिन बाद में फाइन न भरने पर कोर्ट की ओर से नोटिस जारी हो जा रहा है, जिससे उनकी दिक्कत और बढ़ रही है।

दो लाख रुपये रोजाना वसूली

यातायात महकमे से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार करीब 100 से 500 चालान डेली काटे जा रहे हैं जिससे डेली करीब दो लाख रुपये का राजस्व प्राप्त हो रहा है। वही फरवरी से अब तक करीब 40 लाख रुपये राजस्व विभाग को प्राप्त हुआ है। वहीं एक करोड़ रुपये जुर्माने की वसूली अभी पेंडिंग है।

यह है ई-चालान प्रक्रिया

चौराहों पर वाहन की चेकिंग के दौरान दस्तावेज पूर्ण न होने पर यातायात पुलिस मोबाइल से वाहनों नंबर प्लेट का फोटो लिया जाता है इससे वाहन ओनर और वाहन से संबंधित पूरी जानकारी पुलिस के मोबाइल पर उपलब्ध हो जाती है। इसके बाद जो भी डाक्यूमेंट वाहन स्वामी के पास मौजूद नहीं होते हैं इस ऑप्शन को पर क्लिक कर चालान काट दिया जाता है। इस कार्रवाई की रिपोर्ट संबंधित वाहन स्वामी के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मैसेज के रुप में पहुंचती है। इस मैसेज में फाइन कैसे और कब तक भरना है इसकी पूरी डिटेल होती है।

अब तक इतने हुए चालान

फरवरी - 1500

मार्च - 3756

अप्रैल - 3165

मई - 5100

किस कैटेगरी में कितना जुर्माना

बिना हेल्मेट - 100

बिना बीमा - 500

प्रदूषण - 500

इन कैटेगरी में भी होता है चालान

- ड्रिंक एंड ड्राईव

- नो एंट्री

- नो पार्किंग

लोगों से बात

1 । मेरा चालान एक माह पहले हुआ था, लेकिन मोबाइल पर कोई सूचना नही आई। जब आरटीओ में गाड़ी के फिटनेट के लिए गया तो पता चला कि चालान का फाइन भरना है। इससे तो पहले ही व्यवस्था ठीक थी।

मोहित सिंह

2. ई-चालान व्यवस्था समझ नहीं आ रही है। चालान कटने के बाद फाइन कहां भरना है, पता ही नहीं चल रहा है। साथ ही कितना फाइन भरना है, यह भी नहीं पता चल पा रहा है।

अश्वनी।

वर्जन :

ई-चालान को लेकर शिकायतें भी आ रही हैं। हालांकि कोई कठिन व्यवस्था नहीं है। मौके पर जब ई-चालान किया जाता है तो कभी तकनीकि कारणों के चलते मैसेज नहीं पहुंचता है लेकिन मौके पर वाहन स्वामी को सूचना दे दी जाती है।

सुभाष चंद्र, एसपी ट्रैफिक