- रामकृष्ण मठ के पीछे पड़ा मिला ई रिक्शा चालक का शव

- शरीर पर मिले चोट के निशान, पत्नी ने दर्ज कराई हत्या की एफआईआर

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : हसनगंज इलाके में रहने वाले एक ई रिक्शा चालक की हत्या कर दी गई. उसका शव सोमवार की सुबह रामकृष्ण मठ के पीछे गली में पड़ा मिला. शरीर पर चोट के निशान थे. मृतक की पत्नी ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है. चालक का ई रिक्शा भी गायब था. आशंका जताई जा रही कि ई रिक्शा लूटने के लिए हत्या की गई है.

रविवार को घर से निकला था
इंस्पेक्टर हसनगंज अंबर सिंह ने बताया कि मूल रुप से कानपुर राजकुमार (48) हसनगंज के जोशी टोला इलाके में अपनी पत्नी सुधा के साथ किराये के मकान में रहता था. राजकुमार बैटरी वाला रिक्शा चलाता था. रविवार की सुबह पांच बजे वह घर से रिक्शा लेकर निकला था और फिर वह वापस घर नहीं पहुंचा. रात करीब 10 बजे सुधा ने पति को फोन मिलाया पर उसने फोन नहीं उठा.

आधार कार्ड से हुई शिनाख्त
सोमवार की सुबह पुलिस सूचना मिली कि रामकृष्ण मठ के पीछे गली में एक व्यक्ति का शव पड़ा है. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस को शव के पास से मोबाइल फोन, कुछ रुपये, आधार कार्ड और डीएल मिला. आधार कार्ड पर बाजारखाला का पता पड़ा था और मृतक का नाम राजकुमार लिखा था. आधार व अन्य सामान की मदद से पुलिस ने मृतक की शिनाख्त की और सूचना उसकी पत्नी को दी.

पत्नी ने दर्ज कराई हत्या की रिपोर्ट
छानबीन के दौरान पुलिस को राजकुमार के पैर, पीठ और शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट के निशान मिले. इसके बाद पुलिस ने अपनी छानबीन पूरी कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. इस मामले में पुलिस ने राजकुमार की पत्नी सुधा की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है. इंस्पेक्टर हसनगंज का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत की सही वजह पता चल सकेगी और उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

एक बच्ची को गोद लिया था
राजकुमार और उसकी पत्नी सुधा के कोई संतान नहीं थी. इसके चलते दोनों ने कुछ समय पहले एक छोटी सी बच्ची को गोद लिया था. दोनों उस बच्ची को अपनी बेटी की तरह मानते थे. अब पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि दम्पति ने बच्ची को किन लोगों से और कहां से गोद लिया था.

गायब था मृतक का ई रिक्शा
ई रिक्शा चालक राजकुमार की हत्या के मामले में छानबीन कर रही पुलिस के सामने सबसे अहम सवाल है कि उसका बैटरी वाला रिक्शा कहां है. आशंका जताई जा रही है कि शायद ई रिक्शा लूटने के दौरान तो राजकुमार की हत्या नहीं कर दी गई. वहीं पुलिस का यह भी मानना है कि शायद राजकुमार और उसके रिक्शा किसी हादसे का शिकार हुआ. इसके बाद कुछ लोग राजकुमार को गली में छोड़कर फरार हो गए.

डालीगंज पुल पर हुई थी मुलाकात
इंस्पेक्टर हसनगंज ने बताया कि रविवार की रात करीब 8 बजे राजकुमार से उसका भतीजा अंकुर डालीगंज पुल पर मिला था. अंकुर का कहना है कि राजकुमार उस समय नशे की हालत में लग रहा था. उसने राजकुमार को घर जाने की बात भी कही थी. इसके बाद अंकुर वहां से चला गया था.