--सुबह आठ बजकर पांच मिनट पर आया भूकंप, 4.2 थी तीव्रता

रांची: मंगलवार की सुबह झारखंड के कई इलाकों में आए भूकंप के झटके से लोगों में दहशत फैल गई और लोग अपने अपने घरों से बाहर निकल आए. सुबह 8 बजे आये भूकंप के झटके संथाल परगना और गिरिडीह के इलाकों में ज्यादा महसूस किया गया. भूकंप की तीव्रता 4.2 आंकी गई है. इसका केंद्र देवघर में था. राजधानी रांची सहित गिरिडीह, कोडरमा, बोकारो, धनबाद, चतरा, देवघर, दुमका, साहेबगंज, गोड्डा और जामताडा के अलावा अन्य जिलों में भी महसूस किए गए. देवघर से मिली जानकारी के अनुसार सुबह 8 बजकर 5 मिनट पर लोगों ने भूकंप के जोरदार झटके महसूस किए, जिससे दहशत का माहौल बन गया. संथाल परगना प्रमंडल के जिले भूकंप क्षेत्र में नहीं माने जाते हैं. इसके बावजूद भूकंप के तेज झटके से लोग भयभीत नजर आए. ये भूकंप रांची, धनबाद, गिरिडीह, देवघर, चतरा, कोडरमा, बोकारो सहित अन्य जिलों में भूकंप के झटके करीब 4-5 सेकेंड महसूस किए गए.

छज्जे में दरार

जानकारों का मानना है कि राजमहल की श्रृंखलाबद्ध पहाडि़यों के क्षेत्र में हो रहे भौगोलिक परिवर्तन के कारण ही भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूगर्भ शास्त्रियों के अनुसार यह क्षेत्र सुसुक्त ज्वालामुखी क्षेत्र के अंतर्गत आता है. लोगों का मानना है कि ग्रेफाइट की इन पहाडि़यों के अंदर परिवर्तन की ओर यह भूकंप इशारा करता है. इसे लेकर सावधानी बरतने की जरूरत है. जामताड़ा में भूकंप के झटके से सदर अस्पताल के आउटडोर के छज्जे में कुछ जगहों पर दरारें आ गईं. मरीजों ने बताया कि भूकंप के झटकों के साथ कुछ आवाजें भी सुनाई दे रही थी. यहां दो बार झटका महसूस किया गया. गिरिडीह और धनबाद जिले के कतरास में भूकंप के झटकों के अलावा लोगाें ने घड़घड़ाहट की आवाज भी महसूस की. हालांकि कहीं से जानमाल की क्षति की सूचना नहीं है. बोकारो में भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए.