कैंसर का खतरा
डाइटरी इंटरवेंशन स्‍टडी इन चिल्‍ड्रेन(DISC) के डाटा को एनेलाइस करके डॉ जंग से इस बात का खुलासा किया है कि जो टीनएज लड़कियां ज्‍यादा जंक फूड, केक और बिस्‍िकट आदि चीजों को खाती है उन सभी को ब्रेस्‍ट कैंसर होने का ज्‍यादा खतरा होता है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि इन सभी पर्दाथों में सैचुरेटेड फैट कंटेट ज्‍यादा होता है। उन्‍होनें कहा कि सभी को अपनी डाइट का और खाने के समय का पूरा ख्‍याल रखना चाहिए और ये ख्‍याल जवानी के दिनों में सबसे ज्‍यादा रखना चाहिए। अगर डाइट का ख्‍याल नहीं रखा गया तो ब्रेस्‍ट कैंसर के अलावा मोटापा, डायबिटीज जैसी कई अन्‍य बिमारियां भी हो जाएगी।

लड़कियां रखे खासा ध्‍यान
उन्‍होनें अपनी रिसर्च में कहा है कि लड़कियां खासकर अपनी डाइट का ख्‍याल रखे क्‍योंकि टीनएज के समय ब्रेस्‍ट टिशूज बहुत सेंसिटिव होते है और उम्र के इस दौरान उनका डेवेल्‍पमेंट हो रहा होता है। ऐसे में किसी भी तरह की डाइटरी लापरवाही बाद में ब्रेस्‍ट कैंसर का रूप ले सकती है। इस रिसर्च को 1988 में शुरू किया गया था और इसमें 663 बच्‍चों को स्‍टडी में रखा गया था। इन 663 बच्‍चों की उम्र 8 से 10 साल तक की थी। हर उम्र के पड़ाव में इन सभी का टेस्‍ट किया गया और डाटा कलेक्‍ट किया गया। इन सभी का टेस्‍ट 25 से 29 साल की उम्र तक किया गया जिसमें ये बात सामने आई की जो लड़कियां टीनएज में ज्‍यादा जंक फूड खाती है उनको ब्रेस्‍ट कैंसर होने का सबसे ज्‍यादा खतरा होता है।

Health News inextlive from Health Desk

inextlive from News Desk