द दून स्कूल के मामले में शिक्षा विभाग ने जांच से किया इनकार

सहसपुर के बीईओ ने स्कूल के उनके कार्य क्षेत्र में न आने का दिया तर्क

देहरादून।

दून के नामचीन स्कूलों पर जांच के नाम पर शिक्षा विभाग ने पल्ला झाड़ लिया है। बाल अधिकार संरक्षण आयोग के निर्देश पर द दून स्कूल के अलावा कई नामचीन स्कूल की जांच करने को कहा गया था। लेकिन द दून स्कूल के मामले में पहले ही शिक्षा विभाग ने जांच से इनकार कर दिया है। सहसपुर के बीईओ पंकज शर्मा ने बताया कि द दून स्कूल की जांच उन्हें सौंपी गई है। लेकिन यह स्कूल उनके क्षेत्र में नहीं है। ऐसे में वे जांच नहीं कर सकते हैं।

बाल अधिकार संरक्षण आयोग की जनसुनवाई में आया मामला

ट्यजडे को बाल अधिकार संरक्षण आयोग की जनसुनवाई में दून के कुछ नामचीन स्कूल को शिकायत मिली मिली। इनमें दुनियाभर में फेमस द दून स्कूल की मान्यता पर ही किसी ने सवाल खड़े कर दिए हैं। बताया गया कि रेसकोर्स निवासी जगमीत सिंह की शिकायत पर शिक्षा विभाग की ओर से द दून स्कूल के दस्तावेज खंगाले गए तो कुछ नहीं मिला। जगमीत सिंह ने आरटीआई लगाकर स्कूल की मान्यता संबंधी दस्तावेज मांगे थे, लेकिन कुछ नहीं मिल सका। इसके बाद इस पर सवाल खड़े हो गए। जगमीत सिंह ने मामले की शिकायत बाल आयोग में की। आयोग की ओर से सीईओ को मामले की जांच कर 15 दिन के भीतर जांच रिपोर्ट दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं। लेकिन सहसपुर के बीईओ पंकज शर्मा ने बताया कि द दून स्कूल का एड्रेस गलत अंकित किया गया है। जो उनके क्षेत्र में नहीं पड़ता है। ऐसे में वे जांच नहीं कर सकते हैं। इसकी सूचना वे अपने उच्चाधिकारी को देंगे।