- स्कूल में बच्चे 2ोल रहे थे गिल्ली डंडा और पकड़म पकड़ाई

- मंत्री ने फटकार लगाते हुए मु2य शिक्षा अधिकारी को दिए कार्रवाई के निर्देश

ROORKEE: प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे शनिवार को राजकीय इंटर कॉलेज रुड़की में शाम तीन बजे औचक निरीक्षण करने पहुंचे. इस दौरान शिक्षक मैदान में कुर्सी डालकर धूप सेकते हुए मिले. जबकि अधिकांश बच्चे गिल्ली डंडा या पकड़म पकड़ाई खेल रहे थे. इस पर मंत्री का पारा चढ़ गया. उन्होंने रजिस्टर कब्जे में लिया तो, पांच शिक्षक और दो बाबू गैर हाजिर मिले. इस पर मंत्री ने कड़ी फटकार लगाई और मुख्य शिक्षा अधिकारी को कार्रवाई के निर्देश दिए.

शिक्षकों में मचा हड़कंप

शनिवार को शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे देहरादून से रुड़की आते समय रुड़की स्थित राजकीय इंटर कॉलेज का निरीक्षण किया. गाड़ी से उतरते ही शिक्षा मंत्री कक्षाओं की ओर गए. वहां की स्थिति देख उनका पारा चढ़ गया. धूप सेक रहे शिक्षक कक्षाओं की ओर दौड़ पड़े और बच्चों को भी कक्षाओं में बैठाना शुरू कर दिया. इसके बाद शिक्षा मंत्री ने अध्यापकों की उपस्थिति का रजिस्टर देखा तो पाया कि पांच शिक्षकों की शाम तीन बजे तक भी उपस्थिति रजिस्टर में दर्ज नहीं थी. दो बाबू भी सात दिसंबर से हाजिरी नहीं लगा रहे थे. शिक्षा मंत्री ने शिक्षकों के गैरहाजिर होने का कारण पूछा तो प्रधानाचार्य ने बताया कि सभी प्रार्थना पत्र देकर गए हैं. शिक्षा मंत्री ने कहा कि सुबह ही शिक्षकों की छुट्टी लग जानी चाहिए थी. इसके बाद उन्होंने दफ्तर के पास ही एक कमरे को खुलवाकर देखा तो उसमें कक्षा छह से लेकर आठ तक के छात्रों को दी जाने वाली निशुल्क पुस्तकें धूल में पड़ी हुई थी. इस पर उन्होंने कड़ी फटकार लगाते हुये सीईओ को कार्रवाई करने के निर्देश दिये. इस दौरान सीईओ डॉ. आरडी शर्मा, डीईओ बेसिक ब्रह्मपाल सिंह सैनी, बीईओ अजय कुमार, श्रीकांत पुरोहित आदि मौजूद रहे.

प्राथमिक विद्यालय में व्यवस्थाएं देख खुश हुए शिक्षा मंत्री

शिक्षा मंत्री कस्बा भगवानपुर से थोड़ा आगे करौंदी गांव के प्राथमिक विद्यालय भी पहुंचे. वहां बच्चों की 92 फीसदी उपस्थिति मिली. विद्यालय में तैनात तीनों शिक्षक कक्षा में पढ़ा रहे थे. शिक्षा मंत्री ने बच्चों से प्रश्न भी पूछे. उन्होंने एक छात्र से प्रदेश के शिक्षा मंत्री का नाम भी पूछा, तो बच्चे ने अरविंद पांडे बताया. स्कूल में बेहतर व्यवस्थाएं देख शिक्षा मंत्री गदगद हो गए.