- स्मार्ट सिटी के अंतर्गत जन सुविधा के लिए उठाया जा रहा कदम

- सूरजकुंड के सामने एक सड़क को स्मार्ट बनाने की प्रक्रिया शुरू

abhishekmishra@inext.co.in

LUCKNOW : शहर की शायद ही कोई सड़क ऐसी हो, जिस पर जाम न दिखाई देता हो। जबकि लोग ऐसी सड़क चाहते हैं जहां वे न केवल आसानी से फर्राटा भर सकें बल्कि पार्किंग की सुविधा भी उन्हें मिले। इस दिशा में लखनवाइट्स को बड़ी राहत मिलने जा रही है। बस कुछ दिन के इंतजार के बाद शहर में स्मार्ट सड़कें दिखाई देना शुरू हो जाएंगी। इसकी वजह यह है कि स्मार्ट सिटी के अंतर्गत शहर की सड़कों को स्मार्ट बनाने की तैयारी शुरू हो गई है।

पहले चरण में आठ सड़कें

स्मार्ट सिटी के अंतर्गत पहले चरण में आठ सड़कों को स्मार्ट बनाने की कार्य योजना तैयार की गई है। इसमें सूरजकुंड के सामने सड़क को स्मार्ट बनाने का काम भी लगभग शुरू हो गया है। इस सड़क के स्मार्ट बनने के बाद बाकी सात सड़कों को स्मार्ट बनाने की दिशा में कदम बढ़ाए जाएंगे।

यह है स्मार्ट सड़क

स्मार्ट सिटी के अंतर्गत कैसरबाग एरिया को तो स्मार्ट बनाया ही जाना है, इसके साथ ही आठ सड़कों को भी स्मार्ट बनाने का निर्णय लिया गया है। स्मार्ट सड़क का मतलब ऐसी सड़क से है, जहां से गुजरते वक्त लोग गुड फील कर सकें और उन्होंने कोई समस्या न हो।

बाक्स

ये मिलेंगी सुविधा

1- वाई फाई की सुविधा

2- प्रॉपर पार्किग

3- निर्धारित दूरी पर कट

4- हाईटेक स्मार्ट सिग्नल सिस्टम

5- गड्ढा मुक्त सड़क

6- निर्धारित संख्या में फूड स्टॉल्स

7- जाम की समस्या से मुक्ति

8- सड़क के दोनों साइड बैठने की व्यवस्था

9- कूड़ा फेंकने के लिए प्रॉपर डस्टबीन

10- सड़क पैदल पार करने वालों के लिए विशेष प्रबंध

लंबे समय से जरूरत

शहर की जनता लंबे समय से ऐसी सड़क का इंतजार कर रही है, जिससे वे आसानी से मंजिल तक पहुंच सकें। मेट्रो के नॉर्थ साउथ कारिडोर शुरू होने से ट्रैफिक पर खासा असर पड़ा है, वहीं जब आठ सड़कें स्मार्ट बन जाएंगी तो ट्रैफिक और भी स्मूथ हो जाएगा।

बाक्स

फैक्ट फाइल

- 8 शहर की सड़कें बनेंगी स्मार्ट

- 4 करोड़ से एक सड़क बनेगी स्मार्ट

- 500 मीटर की सड़क चुनी गई सूरजकुंड के सामने

वर्जन

स्मार्ट सिटी के अंतर्गत शहर की आठ सड़कों को स्मार्ट बनाया जाना है। इन सड़कों पर पब्लिक को हर तरह की सुविधा मिलेगी। सबसे पहले सूरजकुंड के सामने वाली रोड को स्मार्ट बनाया जा रहा है।

डॉ। इंद्रमणि त्रिपाठी, नगर आयुक्त