- आंधी ने ठप कर दी शहर के कई इलाके की सप्लाई

-भीषण गर्मी में सप्लाई बाधित होने से लोगों की बढ़ी परेशानी

- अफसरों के बजते रहे मोबाइल, नहीं रिसीव हुआ फोन

GORAKHPUR: भीषण गर्मी में रात अचानक आई तेज आंधी से शहरवासियों को थोड़ी राहत मिली तो इससे गुल हुई बिजली ने उनकी टेंशन भी बढ़ा दी। गुल हुई बिजली सप्लाई गुरुवार सुबह तक बहाल की जा सकी। आंधी की वजह से राप्तीनगर फीडर स्थित करीम नगर में जर्जर बिजली का पोल टूट कर गिर गया। जिसकी वजह से चार घंटे तक सप्लाई बाधित रही। इसके चलते पानी के लिए सैकड़ों परिवार तरस गए। प्रभावित इलाकों में लोगों को ऑफिस जाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं दोपहर अन्य एरियाज मे रूक-रूक कर तीन से चार घंटे तक बिजली कटौती हुई।

बुधवार की रात करीब 10 बजे अचानक तेज धूल भरी आंधी उड़ने लगी। जिसकी वजह से रूस्तमपुर उपकेंद्र के बेतियाहाता फीडर में तकनीकी खराबी आ गई। इस कारण इससे जुड़े इलाकों में कटौती हो गई। इसी तरह कैंट थाने के पीछे की कॉलोनी में देर रात दस बजे गुल हुई बिजली सुबह साढे़ छह बजे बहाल हो सकी। खोराबार, विस्तार नगर समेत कुछ एरियाज में रात में सप्लाई प्रभावित रही। यहां सुबह सप्लाई बहाल हो पाई। जगन्नाथपुर फीडर में रात 12 बजे से 3 बजे तक कटौती हुई। बुद्ध बिहार पार्ट 3 में बिजली तार पर पेड़ की डाली टूटकर गिर गई। इससे गुरुवार की सुबह लगभग तीन घंटे तक सप्लाई बाधित रही। सिद्धार्थपुरम में कई बिजली के खंभों में करंट उतर गया। आनन-फानन में इसे पूरी रात बंद रखना पड़ा। ऐसे में मियां बाजार, मोहद्दीपुर, राप्तीनगर, अंधियारी बाग, बक्शीपुर, पुर्दिलपुर, साहबगंज, रेती के एरिया में रूक-रूक कर कटौती होती रही।

सप्लाई ठप होने से मुश्किल में लोग

शहर में बिजली नहीं होने से जलापूर्ति व्यवस्था लड़खड़ा गई। वहीं घरों में लगे मोटर भी नहीं चले। जिससे लोगों को सुबह तैयार होने में दिक्कत हुई। कई मोहल्लों में पेयजल की सप्लाई भी नहीं हो रही थी। इसके कारण लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। इंवर्टर के साथ मोबाइल भी जबाव दे दिए। सुबह करीब दस बजे बिजली आने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली।

वर्जन

आंधी की वजह से कुछ एरियाज में रात में सप्लाई बाधित हुई थी। निगम ने सभी तकनीकी फाल्ट को रात में ही दूर करने का प्रयास किया था। कुछ स्थानों पर फाल्ट नहीं मिल सका था। इसलिए रात में सप्लाई प्रभावित रही। गड़बड़ी को ठीक कर इलाके की सप्लाई बहाल कर दी गई है।

एके सिंह, अधीक्षण अभियंता शहर