patna@inext.co.in

PATNA: अगर आप भी पटना की सड़कों चल रहे हैं तो जरा संभलकर. यहां मौत बनकर बिजली के तार लटक रहे हैं. इस लापरवाही के करंट ने मंगलवार को पति-पत्नी की जान ले ली. पंचमुखी मंदिर के पुजारी सुरेंद्र झा और उनकी पत्नी सावित्री को मंगलवार की सुबह 4 बजे के पहले तक यह पता नहीं था कि उनके साथ वह होने जा रहा है जो उनके परिवार को आंसूओं से डूबो देगा. सुरेंद्र कहते थे कि बिजली के तार सड़क पर ऐसे लटकते हैं कि कभी किसी की जान ले लेंगे. उन्हें क्या पता था कि एक दिन उनकी कही बात उनके मौत का कारण बनेगी. डीजे आई नेक्स्ट कई बार पटनाइट्स की सुरक्षा को लेकर बिजली विभाग को अलर्ट करता रहा है लेकिन विभाग नहीं चेता.

पत्नी को बचाने के चक्कर में पुजारी की भी हो गई मौत

सुरेंद्र झा बेली रोड स्थित पंचमुखी मंदिर में पुजारी थे. वह मूल रुप से सीतामढ़ी के रहने वाले थे. पटना में बोर्ड कॉलोनी वेस्ट पटेलनगर में किराए के मकान में रहते थे. मंगलवार का दिन था और सुबह ही श्रद्धालु मंदिर आ जाते हैं. यह सोचकर वह सुबह 4.30 बजे ही पत्नी के साथ मंदिर आ रहे थे. इस दौरान मोहल्ले में ही लटक रहे बिजली के तार पत्नी के गले में फंस गया. सुरेंद्र पत्नी के गले से तार छुड़ाने लगे. दोनों करंट की जद में आ गए और उनकी मौत हो गई.

सूचना मिलते ही मचा कोहराम

मंदिर बंद था और चाबी सुरेंद्र झा के हाथ में थी. सड़क पर उनका और उनकी पत्नी का शव पड़ा था. पत्नी का गला और उनका हाथ बुरी तरह से झुलसा हुआ था. सूचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया. जो भी सुना वह भागकर घटना स्थल पहुंच गया. सड़क पर पड़े शव को देख लोगों की रूह कांप गई. घर वालों का तो रो रो कर बुरा हाल है. पटना में कई श्रद्धालु उनसे जुड़े हुए थे और सूचना मिलते ही वह वहां पहुंच गए. पंचमुखी मंदिर के पुजारी का मंगलवार को इस तरह से काल के गाल में समा जाना लोगों को दुखी कर दिया.

बिजली विभाग जिम्मेदार

पुजारी सुरेंद्र झा और उनकी पत्नी की मौत पर लोगों में काफी आक्रोश है. उनका कहना है कि बिजली विभाग की मनमानी के कारण ही दोनों निर्दोष की जान गई है. अगर बिजली विभाग तारों को सही रखता और इस पर ध्यान दिया जाता तो ऐसी घटना नहीं होती. सुरेंद्र झा के साथी पुजारी संतोष का कहना है कि वह घटना स्थल पर शव देखकर गश खा गए. उनका कहना है कि ऐसी घटना किसी के साथ न हो. पुलिस का कहना है कि इस मामले में मृतक के बेटे ने पुलिस को लिखित सूचना देकर शव को अंतिम संस्कार के लिए लिया है.