-गोरखपुर विश्वविद्यालय के हॉस्टल में बिजली कटौती की समस्या को देखते हुए लिया अहम फैसला

-इमरजेंसी में तत्काल हो जाएगा बिजली की सप्लाई

-अब तक ट्रांसफॉर्मर ठीक होने के बाद मिलती थी बिजली सप्लाई

GORAKHPUR: डीडीयू गोरखपुर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स को अब परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा. यह दावा विश्वविद्यालय प्रशासन ने किया. बिजली कटौती की प्रॉब्लम के परमनेंट सॉल्युशन के लिए यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने मोबाइल ट्रांसफॉर्मर खरीदने की तैयारी शुरू कर दी है. सब कुछ ठीक रहा, तो स्टूडेंट्स को जल्द मोबाइल ट्रांसफॉर्मर मिल जाएगा, जिससे ट्रांसफॉर्मर खराब होने या दगने की कंडीशन में फौरन इसे बदलकर बिजली व्यवस्था को बहाल किया जा सकेगा.

जल्द निकलेगा टेंडर

गोरखपुर यूनिवर्सिटी में ट्रांसफॉर्मर की प्रॉब्लम को दूर करने के लिए जल्द टेंडर निकाला जाएगा. इसके लिए यूनिवर्सिटी के जिम्मेदारों ने प्रॉसेस भी शुरू कर दी है, अगर सब कुछ ठीक रहा, तो यूनिवर्सिटी में बिजली की समस्या जल्द दूर हो जाएगी. इसके लिए यूनिवर्सिटी की विकास समिति ने अप्रूवल भी दे दिया है. यूनिवर्सिटी में मोबाइल ट्रांसफॉर्मर आ जाने से फौरन अल्टरनेट व्यवस्था से बिजली मिलने लगेगी, जिससे स्टूडेंट्स को काफी राहत होगी.

झेलनी पड़ती है घंटाें कटौती

गोरखपुर यूनिवर्सिटी में आए दिन स्टूडेंट्स को बिजली कटौती की मार झेलनी पड़ती है. कई बार घंटों कटौती हो जाने की वजह से स्टूडेंट्स का गुस्सा सड़कों तक पहुंच जाता है, जिससे यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के साथ ही जिला प्रशासन और पुलिस को भी परेशान होना पड़ता है. बिजली विभाग से मदद लेते-लेते और अल्टनेट व्यवस्था करते काफी वक्त लग जाता है. इसका नतीजा यह होता है कि स्टूडेंट्स को घंटों बिजली कटौती से दो-चार होना पड़ता है, जिससे उनकी पढ़ाई भी डिस्टर्ब होती है.

हाल ही में हुआ था बवाल

गोरखपुर यूनिवर्सिटी में यही ट्रांसफॉर्मर बवाल की वजह बन चुका है. पिछले दिनों करीब चार ट्रांसफॉर्मर फूंक जाने से स्टूडेंट्स सड़कों पर आ गए थे. बिजली न होने की वजह से प्रॉक्टर की गाड़ी और उनके घर पर ही पथराव हुआ, वहीं इसी बिजली कटौती का विरोध करने पर यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने स्टूडेंट्स के खिलाफ मुकदमा तक दर्ज करा दिया था. मगर मोबाइल ट्रांसफॉर्मर लग जाने से ज्यादा देर तक कटौती नहीं होगी, जिससे स्टूडेंट्स सड़कों पर नहीं उतरेंगे.

वर्जन

गोरखपुर यूनिवर्सिटी मोबाइल ट्रांसफॉर्मर परचेज करने जा रही है. इससे ट्रांसफॉर्मर खराब होने की कंडीशन में अल्टरनेट व्यवस्था के तहत बिजली सप्लाई चालू कर दी जाएगी, जिससे छात्रों को ज्यादा देर तक कटौती नहीं झेलनी पड़ेगी.

- शत्रोहन वैश्य, रजिस्ट्रार, डीडीयूजीयू