- सातवां पे कमीशन लागू होने से केंद्र के कर्मचारियों का बढे़गा वेतन

- महंगाई को रहें तैयार, रिटायर्ड की पेंशन भी बढ़ेगी

Meerut : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. सातवें वेतन आयोग की रिपोर्ट पर बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक ने मुहर लगा दी है. मोदी सरकार ने सातवें वेतन आयोग की सभी सिफारिशों को मंजूरी दे दी है. सातवां पे कमीशन लागू होने के बाद केंद्रीय विभागों में बुधवार को दिनभर कर्मचारी किसका कितना वेतन बढ़ेगा इसका गणित लगा रहे थे. केंद्रीय कर्मचारियों की सेलरी में 23.5 फीसदी की वृद्धि हुई है.

बाजार की चांदी

आयकर विभाग में तैनात सुंदर सिंह का कहना है कि केंद्रीय कर्मचारियों की चांदी हो गई है तो बाजार पर भी फर्क पड़ेगा. वेतन बढ़ने से कर्मचारियों में परचेज पॉवर बढ़ेगी. जिससे बाजारों की रौनक लौटेगी और बाजार को फायदा होगा.

होगा सबकुछ महंगा

आयकर विभाग के विजय अग्रवाल का कहना है कि सातवें वेतन आयोग के संबंध में अखबारों में न्यूज चैनल में समाचार आ रहा है. शोर मच रहा है कि वेतन बढ़ जाएगा. केंद्रीय कर्मचारियों के हाथ में नकदी उस स्थिति में बढ़ेगी जब आयकर में छूट की सीमा बढ़ेगी.

मेरठ में ये हैं केंद्रीय विभाग

-इनकम टैक्स

-सेंट्रल एक्साइज एंड कस्टम

-डिफेन्स एकाउंट कंट्रोलर

-प्रोवीडेंट फंड

-सेंट्रल हेल्थ (सीजीएचएफ)

-डाकघर

-रेलवे

-आर्मी

-मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस, आदि

कर्मचारी बोले..

सातवां वेतन आयोग लागू होने से वास्तव में केंद्रीय कर्मचारियों के दिन बहुरेंगे. कर्मचारियों से लेकर अधिकारियों तक को फायदा होगा.

-अंजली तिवारी, प्रधान आयुक्त, आयकर विभाग

---

सातवां वेतन आयोग लागू होने से केन्द्रीय कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले हो जाएगी. वे अपने जीवन को और अच्छे तरीके से जी सकेंगे.

राकेश कुमार मीणा, अस्सिटेंट कमिश्नर, वाणिज्यकर

क्या कर रहा बाजार?

निश्चित रूप से केंद्रीय कर्मचारियों की जेब में पैसे बढ़ने से बचत बढ़ेगी और निवेश की संभावनाएं बनेंगी. सोना भी खरीदेंगे. एक्साइज टैक्स लगने से ठप पड़े ज्वैलरी के कारोबार को उबरने की संभावनाएं नजर आ रही हैं.

-दिनेश रस्तोगी, महामंत्री, मेरठ सर्राफ एसोसिएशन

---

सातवां वेतन आयोग लागू होने से केंद्रीय कर्मचारियों की तनख्वाह बढ़ जाएगी. उनमें खर्च करने की क्षमता बढ़ेगी तो वहीं लोग अपनी जरूरतों को पूरा करेंगे. ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री को भी लाभ मिलेगा.

-अशोक जैन, डायरेक्टर, राजस्नेह आटोमोबाइल

--

निवेश की कमी के चलते पिछले काफी समय से हर सेक्टर में मंदी का माहौल था. केंद्रीय कर्मचारियों का वेतन बढ़ने से रीयल एस्टेट सेक्टर में भी उम्मीद जगी है. बाजार में पैसा आएगा तो रीयल एस्टेट को भी फायदा होगा.

-वरुण अग्रवाल, एमडी, एडिको डेवलेपर्स