- लोगों के विरोध के चलते बुलानी पड़ी पुलिस

- कई मकान स्वामियों की टीम से तीखी नोकझोंक, पुलिस ने खदेड़ा

बरेली : नगर निगम की ओर से अवैध कब्जेदारों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में निगम की टीम ने सिकलापुर के यादव वाली गली में करीब बीस मकानों को पिछले माह चिंहित कर लाल निशान लगाए थे। थर्सडे को टीम ने जैसे ही इन अवैध निर्माण पर जेसीबी चलाई तो लोग विरोध में आ गए। कई मकान मालिकों ने तो निगम पर पक्षपात के आरोप तक लगा दिए। नोकझोंक के बीच निगम की टीम ने करीब 20 मकानों पर हुए अवैध निर्माण ध्वस्त कर दिए। करीब दो घंटे तक चली कार्रवाई का लोगों ने कड़ा विरोध किया।

बुलानी पड़ी फोर्स

दोपहर करीब 12 बजे जब निगम की टीम सिकलापुर पहुंची तो पुलिस फोर्स साथ में नहीं था। जैसे ही टीम ने जेसीबी चलाई मोहल्ले के लोगों ने टीम को घेरकर उनके हाथ से फावड़े और अन्य सामान छीन लिया। जिसके बाद अतिक्रमण प्रभारी ने फौरन एसएसपी को सूचना दी। बीस मिनट में ही फोर्स मौके पर पहुंच गई। इसके बाद निगम की टीम ने अवैध निर्माण पर जेसीबी चलाई।

पॉश इलाकों में नहीं चला अभियान

इस दौरान अतिक्रमण प्रभारी पर सिकलापुर के लोगों ने कई आरोप भी लगा डाले, लोगों ने कहा कि छोटे मोहल्ले में ही निगम को अतिक्रमण नजर आ रहा है। कई ऐसे पॉश एरिया हैं जहां लोगों ने निगम की जमीन कब्जा रखी लेकिन आपसी सांठगांठ के चलते निगम के अधिकारी उस तरफ झांकने तक नही जाते।

वर्जन

निगम की जमीन पर कब्जा जमाए बैठे लोगों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। शहर में इसी प्रकार अतिक्रमण अभियान जारी रहेगा।

ललतेश सक्सेना, अतिक्रमण प्रभारी।