कर्मचारियों ने दिया पार्षद पर कार्रवाई का अल्टीमेटम

17 से फिर हो सकता का निगम कर्मचारियों का धरना

Meerut. कर्मचारी के विरुद्ध कार्रवाई की मांग के विरोध में धरने पर बैठे निगम कर्मचारियों ने अपना धरना शुक्रवार को नगरायुक्त के आश्वासन पर खत्म कर दिया. हालांकि सेवा समाप्ति की मांग उठाने वाली पार्षद के खिलाफ कार्यवाही की मांग के लिए कर्मचारियों का आंशिक धरना पांचवे दिन भी जारी रहा.

17 से दोबारा आंदोलन

पार्षद सविता गुर्जर द्वारा कर्मचारी नेता अनीस अहमद के विरुद्ध की गई सेवा समाप्ति की मांग के विरोध में शनिवार को संयुक्त संघर्ष समिति के तत्वाधान में निगम के सात कर्मचारी आंशिक धरने पर बैठे रहे. इस दौरान समिति में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि यदि 17 सितंबर तक पार्षद की सदस्यता समाप्त करने पर कोई निर्णय नहीं लिया गया तो कर्मचारी अपना पूर्ण आंदोलन दोबारा शुरू कर देंगे.

सफाई का काम प्रभावित

निगम के आंशिक धरने पर भले ही आधा दर्जन से अधिक कर्मचारी बैठे हों लेकिन इस धरने के बहाने से निगम के सफाई कर्मचारियों ने शहर की सफाई से दूरी बनाई हुई है. जिस कारण से शहर के कई इलाकों की सफाई व्यवस्था प्रभावित हो रही हैं.

हमने निगम को तीन दिन का समय दिया है. यदि तीन दिन बाद भी पार्षद पर कोई एक्शन नही होता तो आंदोलन पूर्णकालीन कर दिया जाएगा.

कैलाश चंदौला, महामंत्री, संयुक्त संर्घष समिति