- केस्को के स्टोर में डम्प पड़े हैं अरबों के खरीदे गए उपकरण, बहुत से उपकरणों का अब नहीं होता यूज

- कमीशनबाजी के चक्कर खरीद तो लिए गए लेकिन सालों बीत जाने के बावजूद नहीं किया गया इस्तेमाल

kanpur@inext.co.in

KANPUR: खरीददारी में आगे रहने वाले केस्को ऑफिसर्स की लापरवाही से करोड़ों के उपकरण आउटडेटेड होने के कारण सड़ रहे हैं. पुरानी टेक्नोलॉजी, सिस्टम आदि की वजह से ऐसे उपकरणों का यूज सालों पहले ही केस्को बन्द कर चुका है. बावजूद इसके केस्को इम्प्लाइज की लापरवाही से ये आउटडेटेड उपकरण स्टोर में पडे़ सड़ रहे हैं. वर्षो से पड़े इन उपकरणों को केस्को ऑफिसर्स को इस्तेमाल करने की सुधि नहीं है. एसटीएफ की कार्रवाई के बाद केस्को ऑफिसर्स को स्टोर्स की याद आई है.

सीएम तक पहुंची गूंज

कुछ समय पहले बिजली कम्पनी कर्मचारियों की मिलीभगत से प्राइवेट लोगों को बेचे गए करोड़ों के उपकरण एसटीएफ ने बरामद किए थे. इन उपकरणों में केस्को का सामान भी होने के सबूत एसटीएफ के हाथ लगा है. एसटीएफ के इसकी जानकारी देने पर यूपीपीसीएल ही नहीं मुख्यमंत्री तक ने सख्त रुख अपना लिया है. इसी वजह से केस्को के स्टोर व पर्चेज से जुड़े ऑफिसर व इम्प्लाइज में अफरातफरी मची हुई है.

एसटीएफ की जांच

केस्को के सिटी में 9 स्टोर है. सीएम योगी आदित्य नाथ के सख्त तेवरों के बाद केस्को ने स्टोर की जांच शुरू की है. जांच टीम ने केस्को स्टोर में वर्षो से पड़े बेतरतीबी से पड़े उपकरणों का देखा तो पैरों तले जमीन खिसक गई. केस्को के इम्प्लाइज के मुताबिक सभी स्टोर में मिलाकर अरबों का माल है. जिसमें करोड़ों का सामान ऐसा है जो वर्षो से पहले खरीदा गया है, इनका इस्तेमाल अभी तक नहीं किया गया है. कई उपकरण आउटडेट हो चुके हैं. इनमें रैकून कंडक्टर, पिलका केबल, रैबिट कंडक्टर आदि शामिल हैं. आमतौर पर अब इनमें से ज्यादातर का यूज केस्को नहीं करता है. केस्को इम्प्लाइज का कहना है कि वर्षो से पड़े इन उपकरणों का पहले इस्तेमाल किया जा सकता था. कमीशनबाजी के कारण इन्हें खरीद कर रखा लिया गया लेकिन इनके इस्तेमाल की परवाह ही नहीं की गई.

ऑफिसर्स ने चुप्पी साधी

खरीदा गया करोड़ों का सामान स्टोरों में डम्प होने के मामले में अब केस्को ऑफिसर्स ने चुप्पी साध ली है. मामला सीएम तक पहुंचने की वजह से अब वह कुछ कहने से भी डर रह हैं. सीनियर ऑफिसर्स तक कुछ भी बताने से रोक दिया गया है.