-सिविल सर्विस की तैयारी कर रही है युवती

-दो अन्य लड़कियों का भी अपहरण

bareilly@inext.co.in
BAREILLY: जांबाज अफसर समुद्री सीमा पर जान की बाजी लगाकर देश की रक्षा कर रहा है, लेकिन उसकी अपनी बेटी की सुरक्षा को मोहल्लेवालों से ही खतरा है. पड़ोस में रहने वाला युवक ही उससे छेड़छाड़ करता है. परेशान बेटी ने संडे को एनजीओ की मदद से थाना में जाकर शिकायत की. मामला कैंट थाना एरिया में नौसेना में चीफ ऑफिसर की बेटी से छेड़छाड़ का है. चीफ ऑफिसर की बेटी लॉ स्टूडेंट है. वह सिविल सर्विसेस की तैयारी कर रही है. वहीं शहर से दो अन्य लड़कियों के अपहरण के भी मामले सामने आए हैं. पुलिस सभी मामलों में एफआईआर दर्ज कर जांच में जुट गई है.

टोकने पर बदनाम करने की धमकी

कैंट में बदायूं रोड के एक मोहल्ले की रहने वाली लॉ स्टूडेंट ने आईएएस और आईपीएस बनने का सपना पाला है. उसके पिता की दिल्ली में पोस्टिंग चल रही है. वह मां, दादा-दादी व छोटे भाई के साथ रहती है. छात्रा का आरोप है कि जब वह घर से कॉलेज जाने के लिए निकलती है तो मोहल्ले में रहने वाला सत्यम गाड़ी से उसका पीछा करता है. पहले तो उसने ध्यान नहीं दिया लेकिन जब उसने रास्ते में छेड़छाड़ और कमेंट करना शुरू कर दिया. तो उसने टोकते हुए कहा कि भैया ऐसा क्यों करते हो तो उसकी हरकतें बढ़ गई. उसने घर पर आकर धमकाना शुरू कर दिया, तो उसके सपोर्ट में मोहल्ले का गुर्जर भी आ गया. यही नहीं उसने मोहल्ले में बदनाम करने की धमकी देनी शुरू कर दी. मेरी बात मान लो और मुझसे दोस्ती कर लो.

2-------------------------

10वीं की छात्रा का अपहरण

कैंट थाना एरिया में ही पैतृक घर जाने के लिए निकली छात्रा का अपहरण कर लिया गया है. काफी तलाशने के बाद भी जब छात्रा का कोई सुराग नहीं लगा तो परिजनों ने अपहरण की एफआईआर दर्ज कराई है. कांधरपुर निवासी 17 वर्षीय छात्रा संजय नगर के कॉलेज में 10वीं क्लास में पढ़ती है. छात्रा के पिता फतेहगंज पूर्वी के तरा गांव में रहते हैं. 30 अक्टूबर को दोपहर 3 बजे छात्रा अपने गांव जाने के लिए निकली थी, लेकिन उसके बाद वह घर नहंी पहुंची. रात भर इंतजार करने के बाद रिश्तेदारी में भी तलाश किया, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा.

3--------------------------

पड़ोसी ने किया अपहरण

सुभाषनगर थाना में भी संडे को एक किशोरी के अपहरण की एफआईआर दर्ज की गई है. गणेश नगर निवासी महिला के मुताबिक उसकी बेटी को मोहल्ले में रहने वाला शिवम बुरी नजर रखता था और परेशान करता था. जब उन्होंने शिवम से शिकायत की तो उन्हें धमकी दी गई. यही नहीं 4 नवंबर की सुबह उसकी बेटी का अपहरण करके ले गए.