-बढ़ती वारदातों से पुलिस की कार्यशैली पर खड़े हुए सवाल

बरेली: बेटियों के साथ छेड़छाड़, रेप और मर्डर की वारदातें लगातार हो रही हैं. ऐसे में पुलिस पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. छेड़छाड़ की वारदातों को रोकने के लिए सीएम ने एंटी रोमियो स्क्वॉड लॉन्च किया था. सभी जिलों में शुरुआत में तो इसका काफी असर दिखा लेकिन उसके बाद से सिर्फ यह कागजों में ही दिख रहा है. न तो स्कूल के बाहर रोमियो स्क्वॉड नजर आता है और न ही मार्केट में. कुछ महीने पहले डीजीपी जब बरेली आए थे, तो भी इसको लेकर सवाल उठा था. उस वक्त भी डीजीपी ने इसे प्रभावी रूप से लागू करने के निर्देश दिए थे लेकिन ऐसा हो नहीं सका.

पिछले दिनों हुई वारदातें

1---------------

बच्ची के हत्यारोपियों का नहीं लगा सुराग

संजय नगर बारादरी में 7 वर्ष की बच्ची की हत्या में पुलिस तीन दिन बाद भी खाली हाथ है. पुलिस ने इस मामले में 16 संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठाया था, जिसमें से 10 को पूछताछ के बाद छोड़ा जा चुका है. पुलिस रेप में नाकाम होने पर हत्या की वारदात के एंगल से जांच कर रही है लेकिन कोई भी क्लू नही मिल रहा है. पुलिस रोजाना कुछ संदिग्धों को पूछताछ के लिए लेकर आती है लेकिन नतीजा नहीं निकल रहा है. परिजनों के करीबियों पर भी पुलिस को शक है, जिसके चलते सभी से पूछताछ की जा रही है.

2-----------------

महिला का हत्यारोपी प्रधान फरार

भोजीपुरा में महिला की हत्या कर शव फेंक दिया गया था. महिला को पीलीभीत से लेकर आया गया था. महिला की हत्या प्रधान, वीडीओ और वीडीओ के नौकर ने बिना शादी किए शारीरिक संबंध बनाने पर विरोध करने पर की थी. इस केस में अभी भी प्रधान वीरेंद्र उर्फ वीरू फरार चल रहा है. उसकी गिरफ्तारी से मामले में कई अन्य राज खुल सकते हैं. वह ही बताएगा कि उसने किस तरह से महिला को अपने जाल में फंसाया था.

3-----------------

ट्रेन के अंदर बच्ची से रेप

रेलवे जंक्शन पर भी एक सप्ताह पहले 10 वर्षीय बच्ची के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया गया था. बच्ची दिल्ली में परिजनों से भटक गई थी. बच्ची को एक युवक नई वाशिंग रेलवे लाइन के किनारे लेकर गया था. वह बच्ची की हत्या भी कर सकता था लेकिन तब तक वाशिंग लाइन के कर्मचारियों ने शोर सुनकर उसे बचा लिया था. वाशिंग लाइन में सिक्योरिटी होनी चाहिए लेकिन न तो आरपीएफ और न ही जीआरपी के जवान मौजूद रहते हैं.

बच्ची की हत्या के मामले में विरोध प्रदर्शन भी शुरू हो गया है. फ्राइडे शाम को डीडीपुरम चौराहा पर उड़ान एक प्रयास संस्था की ओर से कैंडल मार्च निकाला गया. इससे पहले सपा के फ्रंटल संगठन भी कैंडल मार्च निकाल चुके हैं.