मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने किया निरीक्षण

देहरादून.

ईवीएम, वीवीपैट के प्रथम स्तरीय चेकिंग कार्यक्रम के दौरान 5713 में से 349 मशीनें खराब निकली. कार्यक्रम के अंतिम दिन मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने पुरानी तहसील में मशीनों का निरीक्षण किया.

निगरानी में रखें मशीनें

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने ईवीएम इंजीनियर से जानकारी ली. कहा कि ईवीएम के रखरखाव एवं निगरानी पर विशेष ध्यान दिया जाए. 2019 का लोकसभा इन्हीं मशीनों से कराया जाएगा.

इंजीनियर ने दी जानकारी

निरीक्षण के दौरान ईवीएम इंजीनियर मनोज कुमार पुरोहित ने ईवीएम के अलावा वीवीपैट, बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट आदि के बारे में जानकारी दी. सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी पीएस रावत ने बताया कि प्रथम चरण के चेकिंग अभियान में 3443 मशीनों के रखरखाव का कार्य कर लिया गया है.

संदेह है तो आज करें मॉक पोल

एक और दो अगस्त को पुरानी तहसील में निरीक्षण के बाद बीयू, सीयू वीवीपैट मशीनों द्वारा पांच प्रतिशत मॉक पोल राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की देखरेख में किया जाएगा. इसके लिए राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों से मॉकपोल में प्रतिभाग करने की अपील की गई.

--

मॉक पोल में 2700 वोट

वेडनेसडे को कुल 5 प्रतिशत मशीनों को मॉक पोल के लिए इस्तेमाल किया जाएगा. इन सभी मशीनों से कुल मिलाकर 2700 तक वोट डाले जा सकेंगे. ये वोट राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में डाले जाएंगे. पांच प्रतिशत मशीनों में वोटिंग कराई जानी है.

कितनी ईवीएम, कितने वोट

2 परसेंट मशीनों से 1000 वोट

2 परसेंट मशीनों से 500 वोट

1 परसेंट मशीनों से 1200 वोट

इनमें खराबी

मशीन कुल खराब

बीयू 2067 349

वीवीपैट 2299 31